scorecardresearch

यूपीः अफसरों के सेवानिवृत्ति लेकर बीजेपी ज्वाइन करने से खुश नहीं अखिलेश, बोले- EC से करूंगा शिकायत

अखिलेश यादव ने कानपुर के पूर्व कमिश्नर असीम अरुण के बीजेपी में शामिल होने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि वो इसके बारे में शिकायत करेंगे।

akhilesh yadav, up election
अखिलेश यादव ने पूर्व अफसरों के बीजेपी में शामिल होने पर उठाया सवाल (फोटो- @samajwadiparty)

यूपी चुनाव से पहले अफसरों के सेवानिवृति लेकर बीजेपी ज्वाइन करने का सिलसिला जारी है। अब इसी को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने नाखुशी जताते हुए कहा है कि वो इसके बारे में चुनाव आयोग से शिकायत करेंगे।

रविवार को कानपुर के पूर्व कमिश्नर असीम अरुण बीजेपी में शामिल हो गए। असीम अरुण चुनाव भी लड़ सकते हैं, जिसे लेकर अब अखिलेश यादव ने बड़ी मांग कर दी है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि वह भारत के चुनाव आयोग से उन सभी अधिकारियों को हटाने का अनुरोध करेंगे, जिन्होंने पिछले पांच वर्षों से पूर्व पुलिस अधिकारी असीम अरुण के साथ काम किया है, ऐसा न हो कि वे आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को प्रभावित करें।

लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा- “हम चुनाव आयोग से कहेंगे कि पिछले पांच सालों में आसिम अरुण के साथ काम करने वाले सभी अधिकारियों को हटा दिया जाए वरना वे चुनाव को प्रभावित करेंगे”।

अखिलेश ने अपने दावे पर जोर देते हुए कहा कि अगर इन लोगों को उनके पदों से नहीं हटाया गया तो वे अधिकारियों की आड़ में भाजपा कार्यकर्ता के तौर पर काम करते रहेंगे। सपा प्रमुख ने कहा कि अरुण का भगवा पार्टी में शामिल होना आयोग के सामने एक उदाहरण है। उन्होंने कहा- “चुनाव आयोग के सामने अब एक उदाहरण है कि एक अधिकारी का किसी पार्टी के साथ कितना संबंध हो सकता है। वह भाजपा के सदस्य थे, दोनों ने बातचीत की होगी, टिकट देने का भी फैसला किया होगा और फिर भी उन्हें आयुक्त बनाया गया था।”

सपा प्रमुख ने आगे कहा कि हम चुनाव आयोग से ऐसे सभी अधिकारियों के खिलाफ मामले की जांच शुरू करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह करेंगे। अखिलेश ने कहा- “अगर चुनाव आयोग उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करता है, तो उस पर सवाल उठेंगे और हम मानेंगे कि आयोग निष्पक्ष रूप से काम नहीं कर रहा है।”

बता दें कि रविवार को पूर्व आईपीएस अधिकारी असीम अरुण भाजपा में शामिल हो गए हैं। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.