scorecardresearch

यूपी चुनावः सत्ता के लोग फैला रहे कोरोना, पर FIR केवल विपक्ष के नेताओं पर, जानें सर्वे पर क्या बोले सपा चीफ

UP Election: सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने एक इंटरव्यू में अमित शाह के कैराना दौरे पर जमकर निशाना साधा है।

akhilesh yadav aajtak interview
सबसे ज्यादा पलायन उत्तराखंड से हुआ है- सपा प्रमुख अखिलेश यादव (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

यूपी में बीजेपी और सपा के बीच जुबानी जंग चालू है। अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने चुनावी कार्यक्रमों को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने अमित शाह के चुनावी कैंपेन पर निशाना साधते हुए कहा है कि सत्ता के लोग कोरोना फैला रहे हैं, लेकिन मामले सिर्फ विपक्ष के नेताओं के खिलाफ दर्ज हो रहे हैं।

आजतक से बात करते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी के पास ना तो रोजगार पर बात करने के लिए है ना ही किसी भी तरह के विकास कार्य वो गिना सकती है, इसलिए वो कैराना का मुद्दा उठा रहे हैं। एंकर चित्रा त्रिपाठी के बार-बार कैराना और पलायन पर सवाल पूछे जाने पर सपा प्रमुख ने कहा कि अगर पलायन सबसे ज्यादा कहीं हुआ है तो वो है उत्तराखंड। लेकिन बीजेपी उत्तराखंड की बात नहीं करती है।

इंटरव्यू में आगे जब कैराना में गृहमंत्री अमित शाह के कैंपेन पर एंकर ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि उस कार्यक्रम में किसी ने भी मास्क नहीं पहन रखा था। अखिलेश यादव ने कहा- “देखा नहीं आपने वहां कोई मास्क नहीं लगाए हुए थे, सब कोरोना फैला रहे थे, अगर विपक्ष निकलेगा तो पाबंदी है, एफआईआर दर्ज हो जाएगी। सत्ता के लोग तो खुलेआम कोरोना फैला सकते हैं।”

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री के इस बयान पर एंकर ने उन्हें लखनऊ में आयोजित उस कार्यक्रम की याद दिला दी, जिसमें स्वामी प्रसाद मौर्य सपा में शामिल हुए थे, और कोरोना गाइडलाइन का इस दौरान खूब उल्लघंन देखा गया था। इस पर अखिलेश यादव ने कहा- “उस समय चुनाव आयोग ने कहा था कि वर्चुअल रैली होगी, वर्चुअल रैली की परिभाषा क्या है…वर्चुअल रैली की कोई डेफिनेशन नहीं थी। दूसरा धारा 144 लागू नहीं थी उस समय”।

ओपेनियन पोल को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के विधायक कूटे जा रहे हैं, उसके बाद आप कह रहे हो कि सर्वे बहुत अच्छा आ रहा है। उन्होंने कहा- “ये सर्वे में कब आएगा कि इनके विधायक कूटे गए हैं। इनके डिप्टी सीएम का विरोध हुआ। ये सर्वे में कब आएगा। ये तो नहीं आ रहा सर्वे में”।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट