scorecardresearch

UP Election: सपा नेता ने मंच पर गाया शिव तांडव स्‍त्रोत, बीजेपी नेताओं को दी चुनौती, बोले- ऐसे गाकर दिखाओ

UP Election: सपा नेता अनूप संडा मंच से ही शिव तांडव का स्त्रोत पढ़ने लगे। इतना ही नहीं उन्होंने इसे पढ़ने के लिए बीजेपी नेताओं को चुनौती भी दे दी।

anup sanda sp, up election
समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार अनुप संडा ने मंच से ही पढ़ा शिव तांडव स्त्रोत (फोटो- AnoopSandaMLA)

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए पहले फेज का मतदान 10 फरवरी को होना है। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आते जा रही है, नेता वोटरों को अपनी ओर खींचने के लिए तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं। इसी क्रम में एक सपा नेता, मंच से ही शिव तांडव स्त्रोत सुनाने लगे। यही नहीं मंच से ही इसके लिए बीजेपी नेता को चुनौती भी दे दी।

दरअसल यूपी में बीजेपी एक बार फिर से हिन्दुत्व को ही मुख्य मुद्दा बनाती दिख रही है। बीजेपी के इस मुद्दे की काट भी समाजवादी पार्टी इस बार आक्रमक ढंग से करती नजर आ रही है। शीर्ष नेताओं के वार-पलटवार के बीच अब उम्मीदवार भी अपने आप को कौन सबसे ज्यादा हिन्दू के तर्ज पर दिखा रहे हैं। कुछ ऐसा ही सपा के सुल्तानपुर से उम्मीदवार अनूप संडा भी करते दिखे।

अनूप संडा ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सीएम योगी रूद्राष्टक नहीं पढ़ पाए। उन्होंने कहा- “अभी योगी जी यहां रूद्राष्टक पढ़ रहे थे, पहला श्लोक नहीं पढ़ पाए और उससे भी कठिन माना जाता है शिव तांडव स्त्रोत। शिव तांडव स्त्रोत अगर आपके सामने रख दिया जाए तो आप इसका उच्चारण नहीं कर पाएंगे।”

इसके बाद सपा नेता मंच से ही शिव तांडव स्त्रोत को पढ़ने लगे। जिसपर तालियां भी खूब बजीं। आगे संडा ने बीजेपी नेताओं को इसे पढ़ने के लिए चुनौती भी दी। इसके साथ ही सपा के पूर्व विधायक बीजेपी के हिन्दुत्व वाले मुद्दे पर भी सीधा हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि वो गांधी और लोहिया के मानने वाले हिन्दू हैं, गोडसे और सावरकर के नहीं।

सपा नेता ने कहा- “हमसे ज्यादा हिन्दू बताओ। हम विवेकानंद के मानने वाले हैं, हम गांधी को मानने वाले हिन्दू हैं। हम डॉक्टर लोहिया को मानने वाले हिंन्दू हैं, हम नाथूराम गोडसे और गोलवलकर और सावरकर के मानने वाले हिन्दू नहीं हैं। जिस सावरकर ने अंग्रेजों को जेल से माफी लिखकर भेजा था। हमारे नेताओं ने माफी नहीं मांगी है।”

बता दें कि यूपी में सात चरणों में वोट डाले जाने हैं। अभी तक के सर्वे के अनुसार राज्य में बीजेपी और समाजवादी पार्टी के बीच वर्चस्व दिख रही है।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट