scorecardresearch

ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद के बाद अब आरपीएन सिंह भी कांग्रेस से दूर हुए, एक-एक कर टूट रहे राहुल गांधी की कोर टीम के सदस्य

RPN Singh Resigned Congress: भाजपा में जाने पर भड़की कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि “वर्तमान में जो लड़ाई पार्टी लड़ रही है, उसे लड़ने के लिए साहस होना चाहिए और यह काम ‘कायर’ नहीं कर सकते।”

Assembly Elections 2022 Updates | UP Election 2022 | Punjab Election 2022 | Uttarakhand Election 2022 | Manipur Election 2022 | GOA Election 2022
भाजपा में आरपीएन सिंह के शामिल होने का स्वागत करते ज्योतिरादित्य सिंधिया। (फोटो- एएनआई)

Former Union Minister RPN Singh Joined BJP: पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। आरपीएन सिंह राहुल गांधी की उस कोर टीम का हिस्सा था, जिसमें उनके अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद और सचिन पायलट आदि शामिल थे। इनमें से सचिन पायलट को छोड़कर बाकी तीनों नेता भाजपा में चले गए हैं। जाने वाले तो सचिन पायलट भी थे, लेकिन आखिरी मौके पर किसी वजह से वे रुक गए।

मंगलवार को दिल्ली में जब वे भाजपा के राष्ट्रीय कार्यालय में पार्टी में शामिल होने पहुंचे तब वहां ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे और गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। उनके अलावा केंद्रीय मंत्री और यूपी प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, यूपी के दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और डॉ. दिनेश शर्मा तथा केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद रहे। इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस में आरपीएन सिंह ने कहा, “मैंने 32 साल एक राजनीतिक दल (कांग्रेस) में बिताए, लेकिन वह पार्टी अब वैसी नहीं रही जैसी पहले थी। मैं अब ‘कार्यकर्ता’ के रूप में देश के लिए पीएम मोदी के सपनों को पूरा करने की दिशा में काम करूंगा।”

इधर, पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह के इस्तीफे पर मंगलवार को उन पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने कहा कि वर्तमान में जो लड़ाई वो लड़ रही है, उसे लड़ने के लिए साहस होना चाहिए और यह काम ‘कायर’ नहीं कर सकते। पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि जिस लड़ाई को कांग्रेस लड़ रही है, वो बहुत मुश्किल है। वो साहस और वीरता से लड़नी है। यह सच और सिद्धांतों की लड़ाई है। यह एजेंसियों के खिलाफ लड़ाई है। प्रियंका जी ने भी यह कहा है। मुझे नहीं लगता है कि लड़ाई कायर के लिए है। इसे लड़ने के लिए साहस होना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ जो जहां जा रहा है, हम उसको उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देते हैं। आशा करते हैं कि उन्हें समय रहते पता चल जाएगा कि शिद्दत से लड़ाई लड़ना वीरों की निशानी है।’’

सुप्रिया ने यह भी कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि कोई भी कांग्रेस में रहकर बिल्कुल ही विपरीत विचारधारा वाली पार्टी में जाएगा। ये काम कायर ही कर सकते हैं।’’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उनके भाजपा में शामिल होने की संभावना है। इस्तीफे से एक दिन पहले ही, कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए उन्हें अपने स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया था।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट