scorecardresearch

एक ही संदेश: किसान विरोधी BJP को सजा दें- बोले योगेंद्र यादव, टिकैत का भी भाजपा पर निशाना, कहा- मुजफ्फरनगर हिंदू- मुस्लिम मैच का स्टेडियम नहीं

आज मेरठ में संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि लोग बीजेपी को सजा दें। वहीं राकेश टिकैत ने कहा कि मुजफ्फरनगर हिंदू-मुस्लिम मैच का स्टेडियम नहीं है।

rakesh tikait, yogendra yadav, up election 2022, narendra modi, bjp , politics
संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। (image source: twitter/@RakeshTikaitBKU)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने मेरठ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में हन्नान मोल्ला, राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव भी उपस्थित थे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन तीनों ही किसान नेताओं ने लोगों से बीजेपी के खिलाफ वोट करने की अपील की और बीजेपी को सजा देने की अपील की।

संयुक्त किसान मोर्चा की अपील को लेकर योगेंद्र यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “आज क्रांति की धरती मेरठ में संयुक्त किसान मोर्चा की अपील लेकर हन्नान मोल्ला और राकेश टिकैत के साथ मुझे मीडिया से मुखातिब होने का मौका मिला। एक ही संदेश: किसान विरोधी बीजेपी को सजा दें।”

वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि, “पश्चिमी उत्तर प्रदेश विकास की बात करना चाहती है। हिंदू, मुस्लिम, जिन्ना, धर्म की बात करने वालो को वोट का नुकसान होगा। मुज़फ्फरनगर हिंदू- मुस्लिम मैच का स्टेडियम नही है।

राकेश टिकैत ने आगे एक और ट्वीट किया और लिखा कि, “देश के प्रधानमंत्री जी ने आंदोलन में शहीद किसानों का नाम तक नही लिया। आज तक प्रधानमंत्री जी ने आंदोलन में जान गवाने वाले किसानों को शहीद कहने से परहेज किया, इनके प्रत्याशियों से किसान सवाल करे।”

बता दें कि इसके पहले संयुक्त किसान मोर्चा ने 4 फरवरी को कहा था कि यूपी के लोग बीजेपी को सजा दें। बीजेपी अपने वादों से मुकर गई है और यूपी के लोग अब बीजेपी को दंडित करें। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर समिति बनाने और किसानों के खिलाफ मामले वापस लेने सहित उनकी कई मांगे अभी भी अधूरी हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से शुरू हो रहे हैं और 10 फरवरी को पहले चरण में उत्तर प्रदेश की 58 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। यह सभी 58 सीटें पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आती है और सभी सीटें जाट और मुस्लिम बाहुल्य है।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट