पीएम मोदी के बयान के बाद संसद में अनोखा विरोध प्रदर्शन, जया बच्चन ने विपक्षियों को पहनाई लाल टोपी

राज्यसभा सांसद जया बच्चन आज संसद पहुंचीं तो उनके सिर पर लाल टोपी नजर आ रही थी। इतना ही नहीं उन्होंने निलंबित हुए सांसदों को लाल टोपी पहनाई, हालांकि उन्होंने कांग्रेस सांसदों के सिर पर यह टोपी नहीं सजाई।

MP Protest
जया बच्चन ने सस्पेंडे सांसदों को पहनाई लाल टोपी, कांग्रेस से दिखाई दूरी। Source- Video Grab

उत्तर प्रदेश में जारी टोपी वाली सियासत की झलक दिल्ली में भी दिखाई दी। राज्यसभा सांसद जया बच्चन आज संसद पहुंचीं तो उनके सिर पर लाल टोपी नजर आ रही थी। इतना ही नहीं उन्होंने निलंबित हुए सांसदों को लाल टोपी पहनाई, हालांकि उन्होंने कांग्रेस सांसदों के सिर पर यह टोपी नहीं सजाई। जया बच्चन के अलावा बुधवार को अखिलेश यादव, समेत कई नेता लाल टोपी में दिख रहे थे। बताते चलें कि गोरखपुर में एक चुनावी रैली के दौरान पीएम मोदी ने सपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि लाल टोपी का मतलब रेड अलर्ट है।

इससे पहले सपा सांसद ने पीएम मोदी के खिलाफ आक्रामक रुख अख्तियार करते हुए कहा कि जब भी मौका मिलता है मैं लाल टोपी पहनती हूं। बंगाल चुनाव के दौरान भी मैंने लाल टोपी पहनी थी क्योंकि मुझे लाल टोपी पर गर्व है, मैं काली टोपी नहीं पहनती। लाल टोपी को अलर्ट की घंटी बताने पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के बोलने से क्या होता है, आपका काम बताएगा।

सपा सांसद राज्यसभा में उठाई MSP की मांग: किसानों की उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानून बनाने की मांग करते हुए राज्यसभा में बृहस्पतिवार को समाजवादी पार्टी के विश्वंभर प्रसाद निषाद ने कहा कि किसानों की अन्य समस्याएं भी हैं जिनका समय पर ही समाधान किया जाना बेहद जरूरी है।

उच्च सदन में विशेष उल्लेख के जरिये यह मुद्दा उठाते हुए निषाद ने कहा ‘‘महंगाई का असर कृषि पर भी पड़ा है और बीज, खाद, कीटनाशक आदि सभी कुछ महंगा हो गया है। फसल चक्र के लिए बारिश का बहुत महत्व होता है। लेकिन देश में कुछ हिस्से में सामान्य, कुछ में अत्यधिक और कुछ में बहुत ही कम वर्षा होती है जिसका असर फसलों पर होता है। बेमौसम बारिश भी फसलों को नुकसान पहुंचाती है।’’

उन्होंने कहा ‘‘तमाम परेशानियों के बाद जब फसल तैयार होती है तो किसानों को उसका उचित मूल्य नहीं मिल पाता। इन कठिनाइयों को देखते हुए सरकार को न केवल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाना चाहिए बल्कि अन्य समस्याओं का भी समय रहते समाधान करना चाहिए।’’

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 समाचार (Upassemblyelections2022 News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।