scorecardresearch

UP Election: बीजेपी प्रत्याशी दयाशंकर सिंह के लिए शोले की बसंती बन गईं हेमा मालिनी, पढ़ें मंच से क्‍या बोलीं

यूपी के बलिया में चुनावी सभा को संबोधित करती हुईं भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि पीएम मोदी को पूरा विश्व, लीडर मानता है।

UP Election: बीजेपी प्रत्याशी दयाशंकर सिंह के लिए शोले की बसंती बन गईं हेमा मालिनी, पढ़ें मंच से क्‍या बोलीं
बलिया में जनसभा को संबोधित करतीं हेमा मालिनी (फोटो- @dayashankar4bjp)

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करने पहुंचीं फिल्म अभिनेत्री और भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने शोले के डायलॉग बोलकर वोट मांगे। बलिया में बीजेपी उम्मीदवार दयाशंकर सिंह के लिए मालिनी प्रचार करने पहुंचीं थीं।

हेमा मालिनी ने बलिया में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आपलोग दयाशंकर को इतने वोटों से जिताएं कि मुझे मुंबई में बैठे हुए पता चल जाए कि आप सबने मेरा समर्थन किया है। उन्होंने कहा- “आपकी बसंती एक छोटा सा डायलॉग कहेगी… चल धन्नो आज तेजी बसंती का इज्जत का सवाल है, दयाशंकर जी को जरूर जिताओ आपलोग।”

इसके साथ ही इस सभा को संबोधित करके हुए हेमा मालिनी, यूक्रेन-रूस युद्ध को भी अपने भाषणों में ले आईं। उन्होंने कहा कि पूरा विश्व चाहता है कि पीएम मोदी आगे आकर इस युद्ध को रोकें। उन्होंने कहा- “युद्ध रोकने के लिए सब लोग मोदी जी से विनती कर रहे हैं। उन्हें सब वर्ल्ड लीडर मानते हैं”।

अपने संबोधन में हेमा मालिनी ने कहा कि मोदी सरकार और योगी सरकार ने मिलकर प्रदेश में विकास किया है। उन्होंने कहा कि पहले लोग यूपी आने से डरते थे, अब निडर होकर आ रहे हैं। निवेश आ रहा है। फिल्म सिटी का निर्माण किया जा रहा है। गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

बता दें कि बीजेपी ने इस बार बलिया से दयाशंकर सिंह को टिकट दिया है। दयाशंकर सिंह सरोजनीनगर सीट से टिकट चाह रहे थे, वहां से उनकी पत्नी स्वाति सिंह, वर्तमान विधायक थीं और वो भी उसी सीट से टिकट की दावेदारी कर रही थीं। दोनों पति-पत्नी के झगड़े को देखते हुए बीजेपी ने स्वाति सिंह का टिकट काट दिया और दयाशंकर सिंह को बलिया से चुनावी मैदान में उतार दिया।

दयाशंकर सिंह बीजेपी में काफी सालों से हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने बसपा प्रमुख मायावती पर विवादित टिप्पणी कर दी थी, जिसपर काफी बवाल मचा था। जिसके बाद बीजेपी ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था। हालांकि सत्ता में आने पर निलंबन वापस हो गया और वो फिर से राजनीति में सक्रिय हो गए। वहीं दयाशंकर सिंह की जगह उनकी पत्नी चुनावी मैदान में उतरीं और जीत कर मंत्री बन गईं।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट