scorecardresearch

योगी ने केरल, प. बंगाल और कश्मीर को बताया अराजक तो बोले कांग्रेस प्रवक्ता, ये मोदी का अपमान, क्या वो इन सूबों के प्रधानमंत्री नहीं

उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के केरल-बंगाल और कश्मीर वाले बयान पर विपक्ष लगातार हमला बोल रहा है। एक डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता ने इसे पीएम मोदी का अपमान बता दिया है।

योगी ने केरल, प. बंगाल और कश्मीर को बताया अराजक तो बोले कांग्रेस प्रवक्ता, ये मोदी का अपमान, क्या वो इन सूबों के प्रधानमंत्री नहीं
सीएम योगी के केरल-बंगाल और कश्मीर वाले बयान पर उपजा विवाद (Express Photo by Gajendra Yadav)

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के एक बयान पर राजनीति गर्म हो गई है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने पहले फेज के मतदान से पहले लोगों से अपील करते हुए कहा था कि अगर इस बार यूपी में बीजेपी नहीं आती है तो राज्य को केरल-कश्मीर और पश्चिम बंगाल जैसा बनने में देर नहीं लगेगी। इसे लेकर विपक्ष भाजपा सरकार पर हमलावर हो गया है। इसी को लेकर एक टीवी डिबेट में इस बयान को कांग्रेस प्रवक्ता ने पीएम मोदी का अपमान बताया है।

एबीपी न्यूज पर जारी एक डिबेट में जब एंकर रुबिका लियाकत ने कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत से इस पर जवाब मांगा तो उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता आपस में ही लड़ रहे हैं। योगी आदित्यानाथ का बयान पीएम के लिए अपमान है। पीएम इन सूबे के भी प्रधानमंत्री हैं।

उन्होंने कहा- “सच बात ये है कि आज तो सबसे बड़ा विषय है केरल, बंगाल और जम्मू कश्मीर, ये पूछना पड़ेगा प्रधानमंत्री और योगी दोनों से कि ये बातइए कि क्या ये भारत का हिस्सा है या नहीं? भारत के प्रधानमंत्री आप हैं या नहीं हैं? अगर आप भारत के प्रधानमंत्री हैं तो पिछले आठ साल से क्या कर रहे हैं?”

इसके जवाब में बीजेपी प्रवक्ता चारू प्रज्ञा ने बंगाल चुनाव के समय के हिंसा से लेकर केरल चुनाव के दौरान का हिंसा का जिक्र किया। उन्होंने कहा- “केरल चुनाव के समय हमको पता चला कि उस समय वहां पर मतलब हाथ में तिरंगा पकड़ लेना या भाजपा का पटका पहन लेने का मतलब ये है कि आपके घर के ऊपर पत्थर छोड़िए, गोलियां चलाईं जाएंगी”।

बता दें कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के इस बयान पर केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने भी जोरदार पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि अगर यूपी, केरल जैसा हो जाता है तो अच्छा ही होगा। केरल जैसी अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, सामाजिक कल्याण, जीवन स्तर का यूपी भी आनंद लेगा और एक सामंजस्यपूर्ण समाज होगा, जिसमें धर्म और जाति के नाम पर लोगों की हत्या नहीं की जाएगी। यूपी की जनता यही चाहेगी।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.