ताज़ा खबर
 

BJP मुख्यालय में प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव पर शख्स ने फेंका जूता, कर रहे थे प्रेस कॉन्फ्रेंस

जिस शख्स ने बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंका है उसका नाम शक्ति भार्गव बताया जा रहा है। आरोपी ने एक जूता मारने के तुरंत बाद अपना दूसरा जूता निकालकर फेंकने की कोशिश की थी।

बीजेपी प्रवक्ता के ऊपर फेंका गया जूता फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली में गुरुवार (18 अप्रैल) को बीजेपी हेडक्वॉर्टर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक शख्स ने सांसद और प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंक दिया। बताया जा रहा है कि जूता फेंकने वाला शख्स कानपुर का रहने वाला है। शख्स का नाम शक्ति भार्गव बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस भार्गव को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

डॉक्टर है शख्स: बता दे कि आरोपी शख्स शक्ति भार्गव एक डॉक्टर बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी सिविल लाइंस, कानपुर का रहने वाला है। ऐसे में एक बड़ा सवाल जो सामने आ रहा है वो यह कि अगर शख्स भाजपा का कोई कार्यकर्ता नहीं है और पत्रकार भी नहीं है। तो ऐसे में वो मंच के पास तक कैसे पहुंचा।

बीजेपी प्रवक्ता ने दिया ये बयान: इस मामले के बाद बीजेपी प्रवक्ता और वकील नलिन कोहली ने कहा कि जिस किसी ने ये कृत्य किया और अगर किसी के कहने पर किया है तो यह बेहद दुखद है। उन्होंने इसे यह अमर्यादित आचरण बताते हुए कहा इसके लिए लोकतंत्र में कोई जगह नहीं हैं।

दूसरा जूता फेंकने की भी थी कोशिश: बताया जा रहा है कि आरोपी ने एक जूता मारने के तुरंत बाद अपना दूसरा जूता निकालकर फेंकने की भी कोशिश की थी। लेकिन तब तक उसे पास मौजूद लोगों ने पकड़ लिया। जिस वजह से वो दूसरा जूता नहीं फेंक पाया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैसे पहुंचा आरोपी: गौरतलब है कि ये घटना राजधानी में बीजेपी हेडक्वॉर्टर में हुई है, जहां सुरक्षा के काफी कड़े इंतजाम होते हैं। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और अरविंद केजरीवाल पर भी जूता फेंकने और स्याही फेंकने की घटना हो चुकी है।इस वाकया के बाद जो बड़ा सवाल सामने आ रहा है वो यह कि आखिर यह शख्स प्रेस कॉन्फ्रेंस तक पहुंचा कैसे। जबकि हालिया जानकारी के मुताबिक न वो पार्टी से जुड़ा है और न ही पत्रकार है।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: वाराणसी में मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी प्रियंका गांधी? राहुल ने ‘सस्पेंस’ में छोड़ा
2 वाराणसी से चुनाव लड़ने पर भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने क्यों लिया यू-टर्न? BJP एजेंट कहे जाने पर दिया जवाब
3 Loksabha election 2019: पाक से आए हिंदू शरणार्थियों में मोदी का क्रेज, नागरिकता मिलने के बाद पहली बार डालेंगे वोट
ये पढ़ा क्या?
X