ताज़ा खबर
 

बीजेपी से समझौते के बाद भी शिवसेना गरम, रामदास कदम बोले- तोड़ना है तो तोड़ लें गठबंधन

शिवसेना नेता रामदास कदम ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ने की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि राज्य में शिवसेना और बीजेपी का ढाई-ढाई साल का सीएम होगा अगर ऐसा नहीं होता है तो यह गठबंधन टूट जायेगा।

Author Updated: February 21, 2019 8:23 AM
शिवसेना नेता रामदास कदम फोटो सोर्स- ANI

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर सोमवार को महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच गठबंधन हुआ। लेकिन दो दिन के अंदर ही  शिवसेना के वरिष्ठ नेता रामदास कदम ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ने की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि राज्य में शिवसेना और बीजेपी का ढाई-ढाई साल का सीएम होगा अगर ऐसा नहीं होता है तो यह गठबंधन टूट जायेगा। बता दें कि महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से बीजेपी 25 और शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

बता दें कि महाराष्ट्र में कई महीनों से बीजेपी और शिवसेना के बीच तल्खी का माहौल था। इस बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और सीएम देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में दोनों पार्टियों के बीच लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ लड़ने की सहमति बन गई। लेकिन महज तीन दिन के अंदर ही शिवसेना ने फिर से तेवर तल्ख कर दिए है। शिवसेना के वरिष्ठ नेता रामदास कदम ने कहा कि अगर बीजेपी और शिवसेना के बीच ढाई-ढाई साल सीएम का फॉर्मूला तय नहीं हुआ तो गठबंधन टूट जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘इस पर सहमति बनी कि ढाई साल के लिए शिवसेना का सीएम होना चाहिए और ढाई साल के लिए बीजेपी का सीएम होना चाहिए। अब कोई कहता है कि जिस पार्टी के ज्यादा विधायक हैं, सीएम उस पार्टी का होना चाहिए। इसलिए, अगर वे (बीजेपी) इसे पसंद नहीं करते हैं तो उन्हें गठबंधन तोड़ देना चाहिए।’

गौरतलब है कि शिवसेना- बीजेपी गठबंधन के बाद आरपीआई नेता रामदास अठावले ने भी सवाल खड़ा करते हुए कहा था कि इस मुद्दे पर उनसे कोई बात नहीं की गई है। उन्होंने मुंबई में एक लोकसभा सीट की मांग करते हुए कहा था कि अगर ऐसा नहीं होता है राज्य के दलित वोटरों में नाराजगी हो सकती है। साथ ही उन्होंने कहा चुनावों में दलित वोटों पर भी इसका असर होगा। अठावले ने कहा कि अगर हमें साथ नहीं लेते हैं तो दोनों पार्टियों को नुकसान उठाना पड़ेगा। इस दौरान कांग्रेस से गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारे पास बहुत विकल्प हैं। कांग्रेस और एनसीपी ने मुझसे संपर्क किया है। लेकिन हम मोदी जी के साथ ही रहना चाहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मायावती का BJP पर वार, कहा- बसपा सपा गठबंधन से डरी हुई है भाजपा, देश की जनता नहीं करेगी माफ
2 अखिलेश, माया का खेल खराब करने में जुटे ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया, जयंत को दिया ऑफर
3 लोकसभा चुनाव 2019: कर्नाटक का फार्मूला अपना 15 करोड़ युवाओं को साधने की कोशिश, राहुल बना रहे लुभावना प्लान!
ये पढ़ा क्‍या!
X