ताज़ा खबर
 

शिवराज सिंह चौहान बोले, ‘चिंता मत कीजिए, टाइगर अभी जिंदा है’

बुधवार को अपने विधानसभा क्षेत्र पहुंचे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य की जनता को चिंतित होने की जरूरत नहीं है। टाइगर अभी जिंदा है।

शिवराज सिंह चौहान (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने तमात कयासों पर विराम लगाते हुए यह साफ कर दिया कि उनका इरादा राज्य में ही रहने का है। वे अभी केंद्र की ओर रूख नहीं करने वाले हैं। बुधवार (19 दिसंबर) को अपने विधानसभा क्षेत्र बुधनी पहुंचे शिवराज ने राज्य की जनता की जनता के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के लोगों इस बात के लिए चिंतित नहीं होना चाहिए कि आगे क्या होगा? उन्होंने फिल्मी अंदाज में कहा, “टाइगर अभी जिंदा है। किसी को इस बात की चिंता नहीं करनी है कि उनके साथ क्या होगा। मैं अभी यहां मौजूद हूं।” शिवराज सिंह चौहान अक्सर चुटीले बयान का प्रयोग करते हैं और विरोधियों पर भी निशाना साधते हैं। मध्य प्रदेश में चुनावी अभियान के दौरान उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा था, “तुम तो ठहरे परदेसी, साथ क्या निभाओगे।”

गौर हो कि मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए नवंबर 28 को हुए चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। वहीं, पिछले डेढ़ दशक से सत्ता पर कायम भाजपा को जनता ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। कांग्रेस को जहां 114 सीटें मिली, वहीं भाजपा को 109 सीटों पर जीत मिली।राज्य में बसपा को दो और सपा को एक सीट मिली। हालांकि, खुद शिवराज सिंह ने कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव को बुधनी सीट से 58,999 मतों से पराजित किया।

चुनाव में हार के बाद इसकी जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देने के बाद चौहान ने मीडिया से कहा था, ‘‘इस्तीफा देकर आया हूं। पराजय की जिम्मेदारी सिर्फ मेरी, मेरी और मेरी है। हमें जनता का भरपूर प्यार भी मिला। कार्यकर्ताओं का भरपूर प्यार भी मिला। वोट भी हमें (कांग्रेस से) थोड़ा ज्यादा मिल गये, लेकिन संख्या बल में (कांग्रेस से) पिछड़ गये। इसलिए मैं संख्या बल के सामने शीश झुकाता हूं। मैं अभी भी राज्य में रहकर यहां की लोगों की सेवा करता रहूंगा।’’ इसके बाद राज्य में कांग्रेस की सरकार बनीं। कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाया गया। शपथ ग्रहण समारोह में भी शिवराज सिंह ने शिरकत की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App