ताज़ा खबर
 

पब्लिक ने योगी आदित्यनाथ की मस्ती उतार दी, बीजेपी की जीत पर जाएंगे कोर्ट: उद्धव ठाकरे

उद्धव ने कहा कि साल 2014 के बाद से बीजेपी लगातार सभी चुनाव हार रही है। उन्होंने कहा कि 14 सीटों पर हुए उप चुनावों में से बीजेपी को आज सिर्फ दो सीटों पर ही जीत मिल सकी है।

पालघर उप चुनावों में हार के बाद मुंबई में अपनी पहली प्रतिक्रिया में उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि पालघर संसदीय सीट पर हुए उप चुनाव में मतगणना में गड़बड़ी की गई है। (फोटो- ANI)

शिव सेना चीफ उद्धव ठाकरे ने उप चुनावों में बीजेपी की हार खासकर उत्तर प्रदेश में दो उप चुनावों में बीजेपी की लगातार हार पर तंज कसा है और कहा है कि वहां की जनता ने सीएम योगी आदित्यनाथ की मस्ती उतार दी है। उन्होंने कहा कि योगी खुद सभी चुनाव हार रहे हैं मगर दूसरे राज्यों में चुनाव प्रचार के नाम पर मस्ती करने जाते हैं। पालघर उप चुनावों में हार के बाद मुंबई में अपनी पहली प्रतिक्रिया में उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि पालघर संसदीय सीट पर हुए उप चुनाव में मतगणना में गड़बड़ी की गई है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि रातों रात चुनाव परसेन्टेज में बढ़ोत्तरी कैसे हो गई? उन्होंने आयोग से मांग की कि फिलहाल चुनावी नतीजों के एलान पर रोक लगाई जाए। उन्होंने आयोग पर भी करप्शन के आरोप लगाए हैं और कहा है कि नियुक्ति की बजाय चुनाव आयोग का भी चुनाव किया जाना चाहिए। उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वो कोर्ट का भी दरवाजा खटखटाएंगे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी होना चाहिए, वरना यह लोकतंत्र के लिए खतरा है।

उद्धव ने कहा कि साल 2014 के बाद से बीजेपी लगातार सभी चुनाव हार रही है। उन्होंने कहा कि 14 सीटों पर हुए उप चुनावों में से बीजेपी को आज सिर्फ दो सीटों पर ही जीत मिल सकी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने देश में बहुमत खो दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी पर से लोगों का भरोसा उठ चुका है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पालघर चुनाव से ठीक एक दिन पहले बीजेपी के कार्यकर्ता लोगों के बीच पैसे बांट रहे थे।

बता दें कि महाराष्ट्र की दो संसदीय सीटों पर उप चुनाव हुए थे। पालघर संसदीय सीट पर बीजेपी के राजेंद्र गावित 29 हजार वोटों से जीतने में कामयाब रहे। हालांकि, इसी सीट पर 2014 में बीजेपी को करीब दो लाख के मार्जिन से जीत मिली थी जबकि भंडारा-गोंदिया सीट पर एनसीपी की जीत हुई है। पालघर सीट बीजेपी के सांसद चिंतामन वनागा के निधन से खाली हुई थी जबकि भंडारा-गोंदिया सीट से बीजेपी के सांसद नाना पटोले ने मोदी सरकार के कामकाज और बीजेपी की नीतियों की वजह से इस्तीफा दे दिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कैराना उपचुनाव परिणाम 2018: मोबाइल के सिर्फ एक मैसेज ने कैसे ढा दिया बीजेपी पर कहर, जयंत चौधरी ने किया खुलासा
2 Kairana Lok Sabha Bypoll Results 2018: जानिए- कैराना में क्‍यों हुई बीजेपी की किरकिरी, खुला लोकसभा में रालोद का खाता
3 कैराना में हारी बीजेपी: मौजूदा लोकसभा में यूपी की पहली मुस्लिम सांसद, जानें कौन हैं तबस्सुम हसन
ये पढ़ा क्या?
X