ताज़ा खबर
 

सट्टा बाजार का आंकलन- राजस्थान में कांग्रेस सरकार, 53 से 55 सीट पर सिमट सकती है भाजपा

सट्टा बाजार के सूत्रों के मुताबिक अभी भाव लोगों के रुख को देखते हुए लगाया गया है। दोनों पार्टियों द्वारा उम्मीदवारों के ऐलान के बाद ही दोनों दलों के सट्टा बाजार का असल भाव पता चल पाएगा।

राहुल गांधी, अशोक गहलोत और सचिन पायलट (फोटो सोर्स- पीटीआई)

राजस्थान विधान सभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ भाजपा और मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने अभी तक उम्मीदवारों का एलान नहीं किया है लेकिन सट्टा बाजार में हार-जीत के अनुमान लगने लगे हैं। सट्टा बाजार के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। देश के नामचीन सट्टा बाजारों में शामिल फलौदी के सट्टा बाजार के मुताबिक राजस्थान चुनाव में कांग्रेस पार्टी को 137 से 140 सीटें मिल सकती हैं जबकि भाजपा 53 से 55 सीटों तक सिमट सकती है। सट्टा बाजार के मुताबिक कांग्रेस का भाव 25 से 30 पैसे का है जबकि भाजपा का भाव 3 से 10 रुपये तक है।

बता दें कि साल 2013 के विधान सभा चुनाव में फलौदी सट्टा बाजार ने भाजपा को 120 से 122 सीटें मिलने का अनुमान जताया था और भाजपा की सरकार बनने का दावा किया था। हालांकि, भाजपा को इतनी सीटें नहीं मिलीं लेकिन राज्य में सरकार जरूर बनी। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भी इस सट्टा बाजार ने दावा किया था कि भाजपा को 272 से 274 सीटें मिल सकती हैं और नरेंद्र मोदी केंद्र में सरकार बना सकते हैं। बाजार का दावा सही साबित हुआ था। पिछले साल हुए उप चुनावों में भी इस सट्टा बाजार के अनुमान सही साबित हुए थे और भाजपा की हार हुई थी।

सट्टा बाजार के सूत्रों के मुताबिक अभी भाव लोगों के रुख को देखते हुए लगाया गया है। दोनों पार्टियों द्वारा उम्मीदवारों के ऐलान के बाद ही दोनों दलों के सट्टा बाजार का असल भाव पता चल पाएगा। बाजार ने कांग्रेस के सीएम चेहरे पर भी सट्टा लगाया है। इसके मुताबिक अशोक गहलोत का भाव 20 से 25 पैसे है जबकि सचिन पायलट का भाव 70 से 80 पैसा है। यानी कांग्रेस की जीत होने पर अशोक गहलोत के फिर से सीएम बनने की संभावना ज्यादा दिखती है। राजस्थान में कुल 200 विधान सभा सीटें हैं। यहां 7 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे और मतगणना 11 दिसंबर को होगा। सट्टा बाजार के दावों की हकीकत 11 दिसंबर को ही पता चल सकेगा। वैसे अन्य कई चुनावी सर्वे में भी कांग्रेस की सरकार बनती दिखाई गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App