ताज़ा खबर
 

मोदी के वाराणसी रोड शो से खुश नहीं उनके साथी मंत्री उपेंद्र कुशवाहा, बोले- वे पीएम हैं उन्‍हें ऐसा नहीं करना चाहिए

भाजपा के सहयोगी दल राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी(रालोसपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी में रोड शो करने पर असहमति जताई है।

भाजपा के सहयोगी दल राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी(रालोसपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी में रोड शो करने पर असहमति जताई है। (Photo: PTI)

भाजपा के सहयोगी दल राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी(रालोसपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी में रोड शो करने पर असहमति जताई है। उन्‍होंने कहा कि यह केवल विधानसभा चुनाव है, पीएम को रोड शो नहीं करना चाहिए। कुशवाहा ने समाचार एजेंसी एएनआर्इ से कहा कि भाजपा यूपी में आगे चल रही है और मुझे लगता है कि पीएम को वाराणसी में रोड शो नहीं करना चाहिए। यह केवल विधानसभा चुनाव है।” गौरतलब है कि कुशवाहा पहले यूपी विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन बाद में मोदी से बैठक के बाद उन्‍होंने अपना फैसला वापस ले लिया। रालोसपा बिहार में प्रभाव रखती है और उसने भाजपा के साथ लोकसभा और बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ा था।

उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा का सपा-कांग्रेस गठबंधन और मायावती नीत बसपा से कड़ा मुकाबला है और पार्टी को उम्मीद है कि राज्य के पूर्वी हिस्से अच्छा प्रदर्शन करके वह 403 सीटों वाले विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा हासिल कर सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान वाराणसी में रोडशो किया था जिस सीट से वह सांसद हैं। भाजपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जबर्दस्त जीत हासिल की थी और अपना दल के साथ भाजपा गठबंधन को 80 में से 73 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। तीन वर्ष बाद उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के लिए एक बार फिर भाजपा मोदी पर काफी हद तक निर्भर दिख रही है।

वाराणसी में प्रधानमंत्री का रोडशो उस दिन हुआ जिस दिन उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में छठे चरण के लिए 49 सीटों पर मतदान हुआ। इसमें गोरखपुर और आजमगढ़ शामिल है। वाराणसी क्षेत्र में 80 प्रतिशत हिन्दू आबादी है और उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के लिए एक बार फिर भाजपा मोदी पर काफी हद तक निर्भर दिख रही है। उत्तरप्रदेश में भाजपा 15 वर्षो से सत्ता से बाहर है। भाजपा का मानना है कि  इस रोडशो से उसे 8 मार्च को होने वाले अंतिम चरण के चुनाव में 40 सीटों पर काफी फायदा होगा जिसका अधिकांश क्षेत्रीय चैनलों ने सीधा प्रसारण किया।

रोडशो के दौरान प्रधानमंत्री की झलक पाने के लिए लोगों का हुजूम बनारस की सड़कों पर उमड़ पड़ा। लोग कई तरह के नारे लगा रहे थे जिसमें ‘सुबह बनारस, शाम बनारस, मोदी तेरे नाम बनारस’, मोदी, मोदी, जैसे नारे शामिल हैं। प्रधानमंत्री हाथ उठाकर और हाथ जोड़कर लोगों को अभिवादन कर रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App