ताज़ा खबर
 

Rajasthan Election: बीजेपी ने बताए अपने दागी, कांग्रेस आपराधिक केस वाले प्रत्याशियों की लिस्ट जारी करने में पीछे

सर्वोच्च न्यायालय ने आपराधिक प्रवृत्ति के उम्मीदवारों की सूची वेबसाइट पर डालने का आदेश दे रखा है। लेकिन राजनीतिक दल राजस्थान विधानसभा चुनावों में इसे नजरअंदाज कर रहे हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

सर्वोच्च न्यायालय ने आपराधिक प्रवृत्ति के उम्मीदवारों की सूची वेबसाइट पर डालने का आदेश दे रखा है। लेकिन राजनीतिक दल लगातार इसे नजरअंदाज कर रहे हैं। राजस्थान विधानसभा चुनावों में भाजपा और कांग्रेस समेत दूसरे राजनीतिक दलों ने भी आपराधिक मुकदमे वाले लोगों को अपना उम्मीदवार बनाया है। जहां एक ओर भाजपा ने अपने दागी उम्मीदवारों की सूची वेबसाइट पर डाल दी है तो वहीं कांग्रेस ने अब तक अपनी वेबसाइट में दागी उम्मीदवारों कोई लिस्ट नहीं जारी की है।

दरअसल, सर्वोच्च न्यायालय ने 25 सितंबर को आदेश जारी करते हुए कहा था कि आपराधिक प्रवृत्ति वाला उम्मीदवार यदि किसी राजनैतिक दल से चुनाव लड़ता है तो उस दल को ऐसे उम्मीदवारों की सूची अपनी वेबसाइट पर डालनी होगी। इसी के मद्देनजर भाजपा ने 32 दागी उम्मीदवारों की सूची अपनी वेबसाइट पर डाली है लेकिन कांग्रेस की वेबसाइट पर अभी तक ऐसी कोई सूची नहीं नजर आयी है।

जाहिर है कोर्ट द्वारा राजनीतिक दलों को अख़बारों में अपने दागी उम्मीदवारों के बारे में तीन बार विज्ञापन देकर जनता को ऐसे उम्मीदवारों के प्रति जागरूक बनाने के लिए भी कहा गया था। लेकिन राजनीतिक दल ऐसा करने से बचते नजर आ रहे है। गौरतलब है कि अगर पार्टी ने वेबसाइट और प्रत्याशी ने अखबार में अपने अपराध की जानकारी नहीं प्रकाशित करवाई तो उन पर न्यायालय की अवमानना के केस का प्रावधान है। छह माह की जेल या दो हजार रुपये जुर्माना या दोनों का भी प्रावधान है। राजस्थान में 7 दिसंबर को मतदान की प्रक्रिया आरंभ होगी। 11 दिसंबर को वोटों की गिनती की जाएगी।

Next Stories
1 ‘दलित हनुमान’ वाले बयान पर आखिरकार योगी आदित्यनाथ ने तोड़ी चुप्पी, सफाई देकर की विवाद खत्म करने की कोशिश
2 Rajasthan Election: प्रत्याशियों से गाड़ी रुकवाकर जनता पूछ रही सवाल, घिरे बीजेपी के मंत्री
3 Rajasthan Elections: राहुल को ‘पप्पू’ कहना पड़ा भारी, चुनाव प्रचार छोड़ भागे भाजपा सांसद
ये पढ़ा क्या?
X