ताज़ा खबर
 

Rajasthan Election: बेनीवाल बोले- ना खुद सोऊंगा ना भाजपा और कांग्रेस को सोने दूंगा

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा दोनों मिले हुए हैं।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और विधायक हनुमान बेनीवाल फोटो सोर्स- ट्विटर

राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए नेताओं का प्रचार अपने चरम पर है। चुनावी रैलियों में नेताओं की सियासी बयानबाजी सुर्खियां बटोर रही है। इसी क्रम में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने  कहा कि ना खुद सोऊंगा ना भाजपा और कांग्रेस को सोने दूंगा। बेनीवाल ने खुद को गिरफ्तार करने की चुनौती देते हुए राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे पर भी तंज कसा।

राजस्थान के अलवर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए हनुमान बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा दोनों मिले हुए हैं, इन दोनों पार्टियों को यहां से भागना होगा। सीएम वसुंधरा राजे के एक बयान जिसमे उन्होंने कहा था कि कुछ आपराधिक प्रवृत्ति के लोग विधानसभा में आ गए हैं। इसका जवाब देते हुए बेनीवाल ने कहा कि आपने मेरे हथियार जमा करा लिए उसके बाद मुकदमा भी दर्ज करा दिया। आगे बेनीवाल ने कहा अगर हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाओ। किसान के बेटे पूरी पिक्चर दिखा देंगे। बेनीवाल ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि कहा कि जब तक किसान के बेटे को सत्ता के शिखर पर नहीं बैठा दूंगा तब तक चैन से नहीं बैठूंगा। ना खुद सोऊंगा ना भाजपा और कांग्रेस को सोने दूंगा।

हनुमान बेनीवाल ने जनसभा के दौरान वसुंधरा राजे को सीधे निशाने पर लेते हुए कहा कि इस बार वसुंधरा को जो भीड़ देखने गई थी। वो सिर्फ इसलिए गई थी कि जाते समय वसुंधरा कैसी दिखती है? उन्होंने सभा के दौरान लोगों से हाथ उठाकर आशीर्वाद मांगा और कहा कहा कि अब ढाणी-ढाणी में हेलीकॉप्टर उतरेगा।

बीते दिनों की बात याद ताजा करते हुए बेनीवाल ने कहा कि मैं राजस्थान में लाल बत्ती लगाकर घूमता था। मैंने वसुंधरा राजे से कहा कि मेरी बत्ती उतार कर दिखाओ। उन्होंने कहा कि जब कलेक्टर व एसपी बत्ती लगा सकते हैं, तो विधायक उनसे बड़ा होता है इसलिए मैं नहीं हटाऊंगा। बाद में बेनीवाल ने कहा कि कुछ पत्रकारों के कहने पर मैंने बत्ती हटा ली और कहा कि जब मन करेगा तो लगा लूंगा।

गौरतलब है राज्य में 7 दिसंबर को मतदान होंगे। 11 दिसंबर को नतीजे सबके सामने होंगे। इसलिए चुनाव में नेताओं द्वारा प्रचार के दौरान सियासी तीर चलाने का कोई भी मौका नहीं चूका जा रहा। इसके पहले भी प्रदेश में कथित तीसरे मोर्चे की अगुवाई कर रहे राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने कहा था कि इस बार प्रदेश में बहुत चौंकाने वाले नतीजे सामने आएंगे।

Next Stories
1 Rajasthan Election: राजस्थान में सुरक्षित सीटों पर लोग ज्यादा दबा रहे हैं नोटा
2 मोदी के मंत्री ने कहा- राजस्थान की हर गली में घूम रहे हैं कांग्रेस के चीफ मिनिस्टर
3 Rajasthan Election: SC-ST के लिए आरक्षित 59 सीटों से तय होगी जीत-हार, जानिए क्यों इनकी भूमिका सबसे अहम
ये पढ़ा क्या?
X