ताज़ा खबर
 

भीड़ नहीं जुटी तो प्रत्याशी पर ही बरसे बेनीवाल, माला-साफा पहनने से इनकार कर बोले अगली बार नहीं मिलेगा मौका

राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान एक सभा में भीड़ नहीं जुटी तो हनुमान बेनीवाल अपनी ही प्रत्याशी पर बरस पड़े।

हनुमान बेनीवाल की फाइल फोटो। (Image Source: Facebook/@HanumanBeniwalOfficial)

राजस्थान में तीसरे मोर्चे के अहम हिस्से के रुप में उभरते दिख रही राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की रैली में रविवार को भीड़ नहीं जुटने से हंगामा हुआ। हिंडौन सिटी में हुई रैली में खाली पंडाल देखकर पार्टी प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने स्थानीय प्रत्याशी शशि दत्ता को सख्त अंदाज में नसीहत दे डाली। बमुश्किल 100-200 लोगों की भीड़ देखकर बेनीवाल खासे परेशान दिखे। गौरतलब है कि शशि दत्ता राजस्थान में भैरोसिंह शेखावत की सरकार में कानून मंत्री रही हैं।

सिर्फ पांच मिनट में यूं बरसकर गए बेनीवाल
बेनीवाल ने यहां सिर्फ पांच मिनट ही सभा को संबोधित किया जिसमें उन्होंने प्रत्याशी पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘समर्थकों में जोश की कमी है। या तो चुनाव नहीं लड़ें और लड़ें तो पीछे मुड़कर ना देखें। ऐसे ही चुनाव लड़े तो 11 दिसंबर को परिणाम भी सभा में जुटी भीड़ जैसा आएगा। ऐसी किसी व्यक्ति को मौका नहीं देंगे जो चुनाव में बात कुछ करता है और फील्ड में कुछ और करता है।’

‘मैं राजस्थान का मान-सम्मान नहीं बिकने दूंगा’
अपनों पर बरसने के बाद बेनीवाल ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दोनों को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार भी पांच सालों तक भ्रष्टाचार में डूबी रहीं वहीं वसुंधरा सरकार भी वादों से मुकरने लगी थी। उन्होंने कहा कि राजस्थान का मान-सम्मान नहीं बिकने दूंगा।

57 सीटों पर लड़ रही है रालोपा
उल्लेखनीय है कि करीब 57 सीटों पर रालोपा ने अपने प्रत्याशी उतारे हैं। हनुमान बेनीवाल के उतरने से भाजपा की मुश्किलें खासतौर से बढ़ती हुई नजर आ रही है। उन्होंने भाजपा के ही बागी नेता घनश्याम तिवाड़ी से भी अप्रत्यक्ष तौर पर हाथ मिलाया है। राज्य में 200 सीटों पर 7 दिसंबर को मतदान होना है। वहीं 11 दिसंबर को नतीजे आएंगे।

Next Stories
1 Rajasthan Elections: सियासत में फंसे हनुमान जी, योगी ने कहा दलित तो जैन आचार्य निर्भय सागर ने बताया जैन
2 Rajasthan Elections: शिवराज का कांग्रेस पर हमला, कहा- जिस बारात का दूल्हा नहीं, वह क्या तोरण मारेगी
3 PM मोदी से बड़ी जुमलेबाज निकलीं वसुंधरा, 44 लाख नौकरियां देने का दावा लेकिन पंजीकृत सिर्फ 33 लाखः सिंघवी
ये पढ़ा क्या?
X