ताज़ा खबर
 

अमित शाह की बात पर वसुंधरा से पूछा सवाल तो बोलीं- अब ये पर्सनल हो रहा है

सोमवार को राजस्थान में भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र को पार्टी ने 'राजस्थान गौरव संकल्प' नाम दिया।

वसुंधरा राजे, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

सोमवार को राजस्थान में भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र को पार्टी ने ‘राजस्थान गौरव संकल्प’ नाम दिया। इस घोषणा पत्र को प्रदेश मुखिया वसुंधरा राजे और केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जारी किया। एक तरफ जहां जेटली ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया तो वहीं दूसरी ओर पत्रकारों के सवालों ने वसुंधरा को असहज कर दिया।

कौन से सवाल पर असहज हुईं वसुंधरा
घोषणा पत्र जारी करते हुए एक तरफ जहां वित्त मंत्री जेटली ने जमकर कांग्रेस पर हमला किया तो वहीं दूसरी ओर वसुंधरा ने मौजूदा शासन में हुए विकास कार्यों की कांग्रेस सरकार से तुलना की। ऐसे में एक सवाल ने वसुंधरा को असहज कर दिया। दरअसल पत्रकार ने उनसे पूछा कि राजस्थान को विशेष राज्य का दर्जा दिलवाने का वादा किया था, क्या हुआ ? जिलों की घोषणा को लेकर भी कुछ नहीं किया। इस सवाल पर वो असहज हो गईं और कहा कि राजस्थान को अग्रणी लाने के लिए काम किया जा रहा है। जिलों की घोषणा प्रशासनिक मुद्दा है। इसे घोषणा में शामिल नहीं किया है।

अमित शाह से जुड़ा उठा सवाल
विशेष राज्य के दर्जे के अलावा एक और सवाल ने वसुंधरा को परेशान किया। दरअसल एक दूसरे सवाल में ये पूछा गया कि अमित शाह ने कहा कि आपने काम कराए लेकिन प्रचार में विफल रहीं। इसका जवाब देते हुए वसुंधरा ने कहा कि ये अब पर्सनल हो रहा है। इसके साथ ही वसुंधरा ने कहा कि पांच सालों में सरकार ने जो काम किए हैं, वो कांग्रेस के पचास सालों से अच्छे हैं। पार्टी का घोषणा पत्र जयपुर में बैठकर नहीं बल्कि जिलों में घूमकर हर समाज से बातचीत करके तैयार किया गया है।

कांग्रेस पर ली चुटकी
घोषणा पत्र जारी करते हुए वसुंधरा ने कहा कि हम हर काम में कांग्रेस से आगे हैं इस पर जेटली ने चुटकी लेते हुए कहा कि हम घोषणा पत्र भी उनसे पहले दे रहे हैं। इस पर वसुंधरा ने कहा कि प्रत्याशियों की सूची भी हम कांग्रेस से पहले लाए थे। इस पर फिर जेटली ने कहा कि हम तो सीएम का चेहरा घोषित करने में भी उनसे आगे हैं।

आपको बता दें कि भाजपा और कांग्रेस ने 43 विधानसभाओं पर अपने प्रत्याशी बदले हैं। गौरतलब है कि 200 सीटों के लिए राजस्थान में कुल 2294 प्रत्याशी मैदान में हैं। प्रदेश में 7 दिसंबर को वोटिंग होगी जबकि 11 दिसंबर को नतीजे सबके सामने होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App