ताज़ा खबर
 

राजस्थान में हरियाणा के कांग्रेसी नेताओं की रिश्तेदारी का फायदा उठाएगी कांग्रेस, जमकर कराएगी चुनाव प्रचार

राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए काग्रेंस ने हरियाणा के नेताओं पर अपना भरोसा जताया है।

कांग्रेस का प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने हरियाणा के नेताओं पर अपना भरोसा जताया है। बता दें हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कुमारी शैलजा, प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे स्वर्गीय चौ. भजनलाल के बेटे कुलदीप बिश्नोई और पार्टी प्रवक्ता एवं विधायक रणदीप सुरजेवाला का नाम राजस्थान के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शामिल किया गया है। इसके साथ ही पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव को भी चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

भूपेन्द्र- कुलदीप का पारिवारिक रिश्ता
बता दें कि भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और कुलदीप बिश्नोई परिवार का राजस्थान के साथ पारिवारिक रिश्ता है। जब तक पूर्व सीएम भजनलाल जिंदा थे, कांग्रेस पार्टी ने अधिकांश चुनाव में उन्हें राजस्थान में अपने स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया था। जिसकी वजह है राजस्थान में विश्नोई समाज के लोगों की बड़ी संख्या होना है। इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के बेटे एवं रोहतक लोकसभा क्षेत्र से सांसद दीपेन्द्र हुड्डा की भी शादी राजस्थान में राम प्रकाश की बेटी श्वेता के साथ हुई है। श्वेता की बहन ज्योति 15वीं लोकसभा में नागौर से सांसद रही हैं। इनके परिवार का राजस्थान के जाट समुदाय में अच्छा असर माना जाता है।

भाजपा के हरियाणा वाले स्टार प्रचारक
एक तरफ कांग्रेस हरियाणा नेताओं पर भरोसा दिखा रही है तो वहीं भाजपा ने भी अपने कुछ नेता मैदान में उतारे हैं। भाजपा की तरफ से हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और वीके सिंह को स्टार प्रचारकों में जगह दी गई है। प्रदेश में खुद को बड़ा जाट नेता घोषित करने में लगे केंद्रीय मंत्री बीरेन्द्र सिंह को राजस्थान के चुनाव से दूर रखा गया है। इसके अलावा हरियाणा सरकार में मंत्री कैप्टन अभिमन्यू और ओमप्रकाश धनखड को भी चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी नहीं दी गई है। उम्मीद थी कि इन नेताओं को राजस्थान भेजा जाएगा।

 

आपको बता दें कि भाजपा और कांग्रेस ने 43 विधानसभाओं पर अपने प्रत्याशी बदले हैं। गौरतलब है कि 200 सीटों के लिए राजस्थान में कुल 2294 प्रत्याशी मैदान में हैं। प्रदेश में 7 दिसंबर को वोटिंग होगी जबकि 11 दिसंबर को नतीजे सबके सामने होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App