ताज़ा खबर
 

Rajasthan Election: पाली में सबसे कम तो पोकरन में सबसे ज्यादा रहा मतदान प्रतिशत, 11 दिसंबर को आएंगे नतीजे

राजस्थान विधानसभा की 200 में 199 सीटों के लिए कल मतदान हो चुका है। पाली में सबसे कम मतदान और पोकरन में सबसे ज्यादा मतदान हुआ है।

मतदान के लिए लगी लंबी कतारें (प्रतीकात्मक तस्वीर) फोटो सौजन्य- इंडियन एक्सप्रेस

राजस्थान विधानसभा की 200 में 199 सीटों के लिए कल मतदान हो चुका है। राज्य में मतदान का प्रतिशत करीब 74.08 प्रतिशत रहा। प्रदेश में सबसे अधिक मतदान वाला क्षेत्र पोकरण रहा जहां 87.45 प्रतिशत मतदान हुआ। तो वहीं पाली में सबसे कम मतदान देखेने को मिला। यहां 64.65 प्रतिशत मतदाताओं ने ही वोट डाला। इसके पहले 2013 के चुनावों में राजस्थान में 75.67 प्रतिशत मतदान हुआ था।

बता दें कि राजस्थान में पोकरण सीट पर कांग्रेस के सालेह मोहम्मद और बीजेपी की तरफ से प्रताप पुरी मैदान में है। यह सीट इस बार काफी चर्चा में है। पोकरण में इस बार 87 प्रतिशत मतदान हुआ है, जो राज्य में सर्वाधिक मतदान वाली सीट है। पिछली बार भी इस सीट पर 87.73 प्रतिशत मतदान देखने को मिला था। वहीं पाली क्षेत्र में सबसे कम 60.42 प्रतिशत मतदान हुआ। पाली जिले से केंद्रीय मंत्री पीपी चौधरी सांसद हैं। जिले की 6 विधानसभा सीट- जैतारण, सोजात, पाली, मारवाड़ जंक्शन, बाली और सुमेरपुर पर बीजेपी का कब्जा है। सबसे ज्यादा वोटिंग वाले जिलों में जैसलमेर, हनुमानगढ़ और गंगानगर रहे तो वहीं सबसे कम वोटिंग वाले जिलों में पाली, सवाईमाधोपुर और सिरोही रहे।

राज्य में अगर सबसे ज्यादा चर्चित सीटों की बात करें तो झालरापाटन में 78.11 प्रतिशत मतदान, टोंक में 75.54 प्रतिशत, सरदारपुरा में 64.22 प्रतिशत मतदान हुआ है। राजस्थान में मतदान के बाद 2274 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गयी। चुनाव में कांग्रेस के 194, भाजपा के 199, बसपा के 189, सीपीआई के 16, सीपीआई (एम) के 28 सहित 830 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में थे। इस बार चुनावो में 2087 पुरुष एवं 187 महिला प्रत्याशी हैं।

राजस्थान में चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह, वसुंधरा राजे समेत भाजपा नेताओं ने 223 सभाएं कीं। तो वहीं राहुल गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, सचिन पायलट समेत कांग्रेस नेताओं ने 433 सभाएं कीं। चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App