ताज़ा खबर
 

Rajasthan Election: 16 मुस्लिम बहुल सीटों पर इस वजह से कांग्रेस को हो सकती है मुश्किल

राजस्थान चुनाव में 16 मुस्लिम बाहुल्य सीटों पर कांग्रेस को वोटों के बंटवारे का नुकसान उठाना पड़ सकता है। इन पर करीब 100 से ज्यादा मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में हैं।

अजमेर शरीफ में राहुल गांधी, अशोक गहलोत और सचिन पायलट (सोशल मीडिया)

राजस्थान चुनाव में टिकट वितरण से शुरू हुई बगावत अब तक थमने का नाम नहीं ले रही है। कांग्रेस ने बागियों को समझाने का जिम्मा अपने शीर्ष नेताओं को सौंपा है। खासतौर पर उन्हें मनाने पर फोकस किया जा रहा है जिनका पार्टी के मुख्य प्रत्याशी पर असर पड़ सकता है, इनमें अल्पसंख्यक वर्ग के प्रभाव वाली सीटें भी शामिल हैं। राजस्थान में 16 सीटें ऐसी हैं जहां अल्पसंख्यकों का खासा असर हो सकता है। इन सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों को अक्सर वोटों के ध्रुवीकरण से नुकसान होता है, क्योंकि उनके मुकाबले उनके ही समुदाय के कई प्रत्याशी खड़े हो जाते हैं।

इन सीटों पर पड़ता है असरः प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस चुनाव में करीब 1250 अल्पसंख्यकों ने नामांकन दाखिल किया है। इनके खड़े होने का सीधा असर कांग्रेस के मतों पर पड़ सकता है। इनमें चुरू, फतेहपुर, किशनपोल, आदर्श नगर, सवाई माधोपुर, पुष्कर, नागौर, मकराना, पोखरण, रामगढ़, शिव, कामान, सूरसागर, लाड़पुरा, तिजारा और टोंक भी शामिल हैं। वहीं 2013 में ऐसे प्रत्याशियों की संख्या करीब 80 ही थी। इनमें से कई सीटें ऐसी थीं जहां अगर ये चुनाव नहीं लड़े होते तो कांग्रेस प्रत्याशी की जीत हो सकती थी। पिछले चुनाव में किशनपोल और आदर्श नगर से सबसे ज्यादा 17 प्रत्याशी मैदान में थे।

टोंक में इस बार अलग कहानीः अल्पसंख्यकों के प्रभाव वाली टोंक सीट से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में शुमार सचिन पायलट चुनाव लड़ रहे हैं। उनके खिलाफ भाजपा ने मुस्लिम प्रत्याशी युनुस खान को मैदान में उतारा है। यहां मामला थोड़ा अलग और दिलचस्प है। यहां भाजपा के लिए भी मुश्किल हो सकती है क्योंकि युनुस समेत कुल तीन मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में हैं जिनमें बसपा प्रत्याशी भी शामिल हैं। ऐसे में इस बार कांग्रेस के बजाए भाजपा को नुकसान हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App