ताज़ा खबर
 

राजस्थानः अजमेर में दरगाह, फिर पुष्कर में मंदिर पहुंचे राहुल गांधी, इस गोत्र से की पूजा

राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने पहले अजमेर शरीफ और फिर पुष्कर की

पुष्कर औऱ अजमेर में राहुल गांधी (फोटोः सोशल मीडिया)

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के दौरान भी पहले के चुनावों की तरह मंदिर-मस्जिद का मसला चर्चाओं में रहा है। कभी राहुल के मंदिर जाने तो कभी मोदी के दरगाह जाने को लेकर खूब सुर्खियां बनीं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में तो दोनों पार्टियों ने बाकायदा सीटों पर प्रभाव डालने वाले धर्मस्थलों की सूची भी बनवाई है। अब राजस्थान में राहुल गांधी ने चंद घंटों के भीतर ही मंदिर और मस्जिद दोनों की यात्रा करके फिर सुर्खियों में आ गए हैं।

अजमेर शरीफ में राहुल के साथ गहलोत और पायलट
प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजस्थान में चुनावी दौरे पर निकले राहुल ने पहले अजमेर स्थित विश्व प्रसिद्ध ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर जियारत की। गौरतलब है कि अजमेर शरीफ देश की सबसे प्रसिद्ध दरगाहों में शुमार है। यहां लगने वाले सालाना उर्स में लाखों की तादाद में लोग शरीक होते हैं।

पुष्कर में पूजा के दौरान राहुल ने लिखवाई ये गोत्र
इसके बाद राहुल अजमेर से थोड़ी ही दूर स्थित प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पुष्कर भी पहुंचे। राहुल की इन यात्राओं को लेकर फिर से चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पूजा करवाने के दौरान राहुल की तरफ से गोत्र को लेकर दी गई जानकारी भी सामने आई है। इनके मुताबिक राहुल ने पुष्कर में कौल ब्राह्मण और दत्तात्रेय गोत्र के नाम से पूजा की है।

सात दर्जन सीटों पर धर्मस्थलों का खास प्रभाव
उल्लेखनीय है कि राजस्थान की करीब सात दर्जन से ज्यादा सीटों पर कुछ धर्मस्थलों का विशेष प्रभाव बताया जाता है। इनमें से अधिकांश पर राहुल गांधी जा चुके हैं, वहीं कुछ पर जाने का कार्यक्रम बना हुआ है। लगभग ऐसा ही हाल भाजपा के दिग्गज नेताओं का भी है। इससे पहले गुजरात और कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान भी राजनीति की बिसात पर धर्मस्थलों का प्रभाव अचानक तेजी से बढ़ता दिखा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App