scorecardresearch

पंजाब चुनावः चन्नी-सिद्धू के झगड़े में सोनिया का दखल, 31 सीटों पर फैसले के लिए बनाई सब कमेटी

कांग्रेस आलाकमान ने विवाद में दखल देते हुए एक सब कमेटी बनाई है, जो इन सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय करेगी। इसमें कांग्रेस महासचिव केके वेणुगोपाल के साथ अंबिका सोनी और अजय माकन को शामिल किया गया है।

Navjot Singh Sidhu, Charanjit Singh Channi, Punjab Congress Crisis
नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत सिंह चन्नी। Photo- File/Indian Express

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस को आज उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी करनी थी। लेकिन सीएम चरणजीत चन्नी और नवजोत सिद्धू के झगड़े में सहमति नहीं बन पाई। कांग्रेस आलाकमान ने विवाद में दखल देते हुए एक सब कमेटी बनाई है, जो इन सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय करेगी। इसमें कांग्रेस महासचिव केके वेणुगोपाल के साथ अंबिका सोनी और अजय माकन को शामिल किया गया है।

पंजाब की 117 विधानसभा सीटों के लिए कांग्रेस पहले 86 उम्मीदवार घोषित कर चुकी है। दूसरी सूची में 6 विधायकों का टिकट काटने की तैयारी की जा रही है। पहली सूची में जगह नहीं मिल पाने से नाराज नेताओं को मनाने के कारण ही कांग्रेस की दूसरी सूची के जारी होने में देरी हो रही है। दूसरी सूची में कई नामों में बदलाव भी होने की पूरी संभावना बन गई है। इसका कारण है कि चुनाव के दौरान आलाकमान भी पार्टी में टूट जैसे हालात नहीं चाहता है।

गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव की तैयारियों में सभी सियासी पार्टियां जुटी हुई हैं। वहीं पंजाब कांग्रेस के नेताओं में आपसी मतभेद जारी है। कांग्रेस की तरफ से पहली सूची जारी करने के बाद पार्टी के नेताओं ने बगावती सुर अख़्तियार करना शुरू कर दिया। अब चुनावी घोषणा पत्र को लेकर पार्टी नेताओं में मतभेद की खबर आ रही है।

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस प्रत्याशियों ने और टिकट के दावेदारों ने कांग्रेस आलाकमान को कुछ स्थानीय मुद्दे को भी घोषणा पत्र में शामिल करने के सुझाव दिए थे। हालांकि पार्टी ने उनके सुझावों को खारिज करते हुए यह तर्क दिया कि चुनावी घोषणा पत्र में सिर्फ वैसे मुद्दे को शामिल किया जाएगा जिससे राज्य के सभी लोगों को फायदा पहुंच सके। स्थानीय मुद्दे को सुलझाने की जिम्मेदारी जीते हुए प्रत्याशियों की होगी।

सिद्धू और चन्नी के मतभेदों के चलते चुनावी रणनीति बनाने में भी परेशानी हो रही है। सूत्रों का कहना है कि इसी वजह से चन्नी के भाई का टिकट कटा। वो वीआरएस लेकर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे पर आखिरी मौके पर एक परिवार एक टिकट के नाम पर उनका पत्ता कट गया।

पढें Elections 2022 (Elections News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट