ताज़ा खबर
 

Punjab Assembly Election 2017: केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने अरविंद केजरीवाल को बताया ISI ‘एजेंट’, कहा- पंजाब में फैला रहे हैं अशांति

राहुल गांधी ने अरविंद केजरीवाल पर कट्टपंथी शक्तियों के साथ मिलने का आरोप लगाया था।

वोट डालने के बाद मतदान केंद्र से बाहर निकली केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर। (Photo Source: PTI)

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि वे पंजाब विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कट्टरपंथियों की मदद ले रहे हैं। पंजाब में बुधवार को गोवा के साथ विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। मतदान करने के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए हरसिमरत ने केजरीवाल पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) और कट्टरपंथी ग्रुप बब्बर खालसा के साथ कंधा मिलाकर चलने का आरोप लगाया है। शिरोमणी अकाली दल की नेता कौर ने कहा, ‘केजरीवाल आतंकियों के साथ मिलकर पंजाब में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले 30 वर्षों में पंजाब में कोई बम बलास्ट नहीं हुआ है। केजरीवाल बब्बर खालसा के सदस्यों के साथ नाश्ता कर रहे हैं। केजरीवाल आईएसआई के प्रायोजक हैं।’

कुछ दिन पहले कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी केजरीवाल पर चुनाव में जीत हासिल करने के लिए कट्टरपंथियों का समर्थन लेने का आरोप लगाया था। राहुल ने पंजाब के संगरूर में 31 जनवरी को भठिंडा जिले में हुए बलास्ट का जिक्र करते हुए कहा था, ‘कुछ दिन पहले बम बलास्ट में 6 लोग मारे गए। केजरीवाल जो दिल्ली के सीएम हैं, वो इन शक्तियों की मदद कर रहे हैं। उन्हें खड़ा होने दे रहे हैं।’ भठिंडा जिले में हुए कार बम विस्फोट में एक कांग्रेस कार्यकर्ता की मौत हो गई थी। यह विस्फोट कांग्रेस के उम्मीदवार हरमिंदर सिंह जस्सी के रोड शो के दौरान हुआ था, इसमें जस्सी को चोट नहीं पहुंची थी।

इसके साथ ही हरसिमरत कौर बादल आश्वत हैं कि राज्य में एक बार फिर शिरोमणी अकाली दल और भाजपा की सरकार लौटेगी। उन्होंने कांग्रेस तथा आप पर हमला बोलते हुए कहा कि दोनों पार्टियां मतदाताओं को लुभाने के लिये ‘झूठे वादे’ कर रही हैं।

हरसिमरत कौर ने मुक्तसर जिले के बादल गांव में अपना वोट डाला। ( Photo Source: PTI)

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘वे (कांग्रेस और आप) हमारे खिलाफ झूठे आरोप लगाने में व्यस्त हैं और दोनों ही पार्टियां शिकस्त खाएंगी। जब कैप्टन अमरिंदर सिंह राज्य के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने क्या किया और लोगों को आप से भी पूछना चाहिए कि दिल्ली में अपने कार्यकाल के दौरान उसने जनता के लिये क्या किया है। हमने मतदाताओं के साथ कोई झूठा वादा नहीं किया है। हमने जो वादे किये, उन्हें निभाया भी।’

वीडियो- चुनावी सर्वे: पंजाब में बहुमत से सरकार बनाएगी आप, गोवा में कांग्रेस-भाजपा में कड़ी टक्कर

वीडियो - विधानसभा चुनाव 2017: क्या चाहता है पंजाब

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App