scorecardresearch

Punjab Election 2022: जब भगवंत मान ने कहा था – मैं संसद में जुबान के बम फेंकूंगा

Punjab Election 2022 का बिगुल बज चुका है और आम आदमी पार्टी की ओर से भगवंत मान मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार है। वहीं कांग्रेस ने अभी तक सीएम चेहरे की घोषणा नहीं की है।

punjab election 2022, bhagwant mann, arvind kejriwal, aap
'आप' की ओर से भगवंत मान पंजाब में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार है। (Image source : the Indian express, Illustration: Suvajit Dey)

मनोज ग्रेवल शर्मा

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री उम्मीदवार के चेहरे के रूप में घोषित किया है। भगवंत मान सांसद बनने के बाद ही नहीं बल्कि उसके पहले से भी लोकप्रिय थे। अब बड़ा सवाल यह उठता है कि क्या 48 वर्षीय भगवंत मान वो आम आदमी बन पाएंगे जो आम आदमी पार्टी की जरूरत है।

भगवंत मान कोई आम आदमी नहीं है बल्कि वह एक जाने-माने कॉमेडियन से लेकर एक सांसद तक और अब एक पार्टी का सीएम चेहरा है। भगवंत मान ने एक के बाद एक कई सफलता देखी है। 48 वर्षीय भगवंत मान जब 38 साल के थे तब उन्होंने पंजाब पीपल्स पार्टी ज्वाइन की थी। इस पार्टी का गठन मनप्रीत बादल ने किया था जो अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के चचेरे भाई हैं। पंजाब पीपुल्स पार्टी का उद्देश्य राजनीति को शुद्ध करना था। भगवंत मान ने 41 साल की उम्र में 2014 का लोकसभा चुनाव संगरूर से आम आदमी पार्टी के टिकट पर लड़ा और जीत हासिल की। फिर उन्होंने 2019 में दोबारा जीत हासिल की।

जाट सिख परिवार में हुआ जन्म: भगवंत मान का जन्म संगरूर के सतोज गांव में एक जाट सिख परिवार में हुआ था, जिनके पास 15 एकड़ की खेती थी और अकाली की ओर झुकाव था। 1991 में सुनाम के शहीद उधम सिंह गवर्नमेंट कॉलेज में मान ने बीकॉम के लिए दाखिला लिया और उसी समय उनको नाम भी मिला। यूथ फेस्टिवल में भगवंत मान स्टार स्टैंड अप कॉमेडियन हुआ करते थे। 19 साल की उम्र में भगवंत मान ने अपना पहला कैसेट जारी किया और कॉमेडी में अपने करियर बनाने के लिए कॉलेज से ड्रॉप आउट हो गए।

2013 में केजरीवाल से मिले थे: 2013 में जब आम आदमी पार्टी एंटी करप्शन अभियान चला रही थी उसी समय पार्टी का ध्यान पंजाब की ओर गया। केजरीवाल को पंजाब में कुछ विश्वसनीय चेहरों की जरूरत थी। उसी समय अरविंद केजरीवाल की नजर भगवंत मान पर पड़ी और उन्होंने मान से संपर्क किया। मार्च 2013 में भगवंत मान ने आम आदमी पार्टी को ज्वाइन किया। जबकि पंजाब पीपल्स पार्टी का गठन करने वाले मनप्रीत बादल 2016 में कांग्रेस के साथ चले गए और पीपीपी का विलय कांग्रेस में कर दिया। भगवंत मान आम आदमी पार्टी के साथ बने रहे और उन्होंने कहा था कि, ‘आजादी के पहले भगत सिंह कांग्रेस के साथ नहीं गए तो मैं कैसे जा सकता हूं?’

इस्तीफा देते हुए भगवंत मान ने एक भावुक पत्र भी लिखा था, जिसमें उन्होंने प्रसिद्ध कवि दुष्यंत कुमार की लाइनों का जिक्र किया था। उन्होंने लिखा था, ‘सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं, मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए’

मैं पार्लियामेंट में जुबान के बम फेंकूंगा: सार्वजनिक जीवन में आने के बाद भगवंत मान ने शहीद भगत सिंह, उनकी लेखनी और उनकी पीली पगड़ी को अपने जीवन का हिस्सा बना लिया। 2014 में सांसद बनने के बाद भगवंत मान खटकर कलां में उनके स्मारक का दौरा करना करने पहुंचे। इस दौरान उनका एक बयान काफी चर्चा में रहा। भगवंत मान ने भगत सिंह से कहा कि, ‘मैं वह नहीं कर सकता जो आपने किया (दिल्ली के केंद्रीय विधान सभा के परिसर में एक बम विस्फोट) लेकिन मैं पार्लियामेंट में जुबान के बम फेंकूंगा।’

कपिल शर्मा भी हैं प्रशंसक: प्रसिद्ध कॉमेडियन कपिल शर्मा एक सफल टीवी शो कॉमेडी नाइट विद कपिल को होस्ट करते हैं। उन्होंने भी भगवंत मान के राजनीति में रुचि के बारे में बात की है। उन्होंने कहा था कि , ‘1993 में भगवंत मान की पहली हिट कुल्फी गरमा गरम को सुनने के बाद राजनीतिक व्यंग्य उनके शो का अहम हिस्सा हो गया।’ कपिल शर्मा भी अमृतसर में भगवंत मान के कैसेट को सुनकर बड़े हुए हैं।

2017 चुनाव में किया था जमकर प्रचार: 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में भगवंत मान ने करीब 180 सभाओं को संबोधित किया था। उस समय उनकी सभाओं में उनके वन लाइनर को सुनने के लिए भारी भीड़ आती थी और वह अपने अंदाज में अमरिंदर सिंह, सुखबीर बादल और अन्य विपक्षी नेताओं पर तंज कसते थे।

भगवंत मान ने उस समय द संडे एक्सप्रेस से कहा था कि लोग मेरी रैली में इसलिए नहीं आते कि मैं एक कॉमेडियन हूं। बल्कि वह इसलिए आते हैं कि मैं उनसे सच बोलता हूं। उन्होंने इस पर जोर दिया कि वह पूरी तरह से प्रतिबद्ध राजनीतिज्ञ है। 2015 में पत्नी से तलाक के बाद उनके दो बच्चे (एक बेटा और एक बेटी) उस समय क्रमशः 10 और 14 साल के थे। मान ने उस समय एक पंजाबी कविता भी फेसबुक पर पोस्ट की थी जिसमें उन्होंने समझाया था कि उन्होंने अपने राज्य को चुना है।

पढें पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (Punjabassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट