scorecardresearch

पंजाब चुनाव: संयुक्त समाज मोर्चा ने उम्मीदवारों किया ऐलान, किसानों की पार्टी में व्यापारी, उद्योगपति, डाक्टर, अकाउंटेंट को मिला टिकट

पंजाब विधानसभा चुनाव में संयुक्त समाज मोर्चा सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। संयुक्त समाज मोर्चा वैसे तो किसानों की पार्टी है। लेकिन उद्योगपति ,अकाउंटेंट और डॉक्टरों को भी पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है।

Punjab Election 2022, congress, akali dal , bhartiya kisan union
संयुक्त समाज मोर्चा ने सभी 117 सीटों पर उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। (Image source: express photo)

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए संयुक्त समाज मोर्चा ने भी उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। संयुक्त समाज मोर्चा ने ऐलान करते हुए बताया कि वो सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। संयुक्त समाज मोर्चा संयुक्त किसान मोर्चा का हिस्सा था जिसने किसानों के आंदोलन के दौरान कृषि कानूनों के विरोध में बढ़-चढ़कर आवाज उठाई थी। संयुक्त समाज मोर्चा का नेतृत्व बलबीर सिंह राजेवाल कर रहे हैं जो भारतीय किसान यूनियन राजेवाल गुट के अध्यक्ष भी हैं।

उम्मीदवारों की बात करें तो तरुण बावा जैन पंजाब के एक रंगाई संघ के अध्यक्ष है, जबकि हरकीरत सिंह राणा एक होजरी उद्योगपति हैं। वहीं सुखमनदीप सिंह एक डॉक्टर है और रमनदीप सिंह एक फिजियोथेरेपिस्ट हैं। जबकि कुलबीर सिंह मट्टा एक आढ़ती हैं। फिलहल यह सभी संयुक्त समाज मोर्चा के उम्मीदवार हैं, यह पार्टी पंजाब के आगामी विधानसभा में चुनाव के मद्देनजर किसान संघों द्वारा गठित एक राजनीतिक संगठन है।

अभी तक संयुक्त समाज मोर्चा ने 110 उम्मीदवारों का ऐलान किया है। बलबीर सिंह राजेवाल समराला विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। जबकि अन्य नेता जैसे प्रेम सिंह भंगू घनौर से, गुरनाम सिंह भीखी मांसा से, हरजिंदर सिंह टांडा खदूर साहिब से, बूटा सिंह शादीपुर सनौर से और रवनीत सिंह बरार मोहाली से चुनाव लड़ रहे हैं। इसके साथ ही संयुक्त समाज मोर्चा की लिस्ट में उद्योगपति, वकील और डॉक्टरों का भी नाम है। वहीं घोषित उम्मीदवारों में कई उम्मीदवारों के पास खेती की पृष्ठभूमि भी नहीं है।

संयुक्त समाज मोर्चा के टिकट पर प्रोफेशनल्स द्वारा चुनाव लड़े जाने के सवाल पर एसएसएम स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य और पटियाला के घनौर विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार प्रेम सिंह भंगू ने कहा कि, “हम सभी समाज का हिस्सा है और जब हम चुनाव लड़ते हैं तो टिकट सभी क्षेत्रों के लोगों को देना पड़ता है। हमने अपने उम्मीदवारों के अन्दर समाज में बदलाव लाने का जुनून देखा है।”

द इंडियन एक्सप्रेस ने संयुक्त समाज मोर्चा के कुछ उम्मीदवारों से की बात

तरुण बावा जैन, 49 वर्ष: बहादुरके डाइंग एसोसिएशन के अध्यक्ष तरुण जैन लुधियाना वेस्ट से संयुक्त समाज मोर्चा के उम्मीदवार है। हालांकि तरुण जैन राजनीति में नए नहीं है, वह पहले भाजपा में भी रहे थे और उनकी पत्नी रुचि जैन 2007 में भाजपा से पार्षद थी। सितंबर 2009 में उन्होंने पार्टी छोड़ खुद को अलग कर लिया था और अगस्त 2021 में तरुण जैन ने ‘भारतीय आर्थिक पार्टी’ नामक अपनी पार्टी बनाई। हाल ही में उन्होंने अपनी पार्टी का विलय संयुक्त समाज मोर्चा में कर दिया। उन्होंने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि, “मैं इलाके में डोर टू डोर कैंपेन कर रहा हूं। मौसम की वजह से अभी तक चुनाव प्रचार ने गति नहीं पकड़ी है लेकिन जल्द ही पकड़ लेगी।” तरुण जैन कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशू और गुरप्रीत सिंह गोगी के खिलाफ मैदान में है। गुरप्रीत सिंह गोगी हाल ही में कांग्रेस से आम आदमी पार्टी में आए हैं।

हरकीरत सिंह राणा, 59 वर्ष : लुधियाना के आत्मनगर विधानसभा क्षेत्र से संयुक्त समाज मोर्चा के प्रत्याशी हरकीरत सिंह राणा हजूरी रोड होजरी एसोसिएशन के अध्यक्ष है। उन्होंने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि, “मैं किसान नहीं हूं लेकिन मैं कई बार सिंघु बॉर्डर गया हूं। समाज के सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व देने के लिए संयुक्त समाज मोर्चा का गठन किया गया है।” राणा लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत बैंस और कांग्रेस के कमलजीत सिंह करवाल के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

सुखमनदीप सिंह, 25 वर्ष: तरनतारन के एमबीबीएस डॉक्टर सुखमनदीप सिंह ने कहा कि, “जब कृषि आंदोलन शुरू हुआ तो मैंने विदेश में पढ़ाई करने की अपनी योजना छोड़ दी। यूक्रेन से एमबीबीएस करने के बाद मैं अपनी मास्टर्स की पढ़ाई करने के लिए अमेरिका जाने से पहले कुछ समय के लिए भारत में था। उसी दरम्यान मैं टिकरी बॉर्डर पर सेवाएं प्रदान करने वाले न्यूजर्सी के डॉक्टर स्वाईमान सिंह से मिला, उसी दिन मैंने फैसला किया कि मैं पंजाब के लिए रुकूंगा और कुछ करूंगा। सुखमनदीप सिंह तरनतारन से मौजूदा कांग्रेस विधायक धर्मवीर सिंह अग्निहोत्री और आम आदमी पार्टी के कश्मीर सिंह सोहल के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

रमनदीप सिंह, 31 वर्ष: फरीदकोट जिले के जैतू से एसएसएम उम्मीदवार रमनदीप सिंह एक फिजियोथेरेपिस्ट हैं और एक पुनर्वास केंद्र चलाते हैं। रमनदीप पंजाब पारा स्पोर्ट्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव भी हैं। रमनदीप सिंह भी किसान आंदोलन में विरोध करने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने द इंडियन एक्सप्रेस से बताया कि, “मेरे निर्वाचन क्षेत्र में 48 गांव हैं। हमारे पास एक प्रचार टीम है और हमने एक बार पूरे विधानसभा क्षेत्र का दौरा किया है। मुझे अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।” रमनदीप सिंह अकाली दल के सूबा सिंह बादल और आम आदमी पार्टी के अमोलक सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

गुरप्रीत सिंह कोटली , 33 वर्ष: गुरप्रीत सिंह कोटली फिजिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट है और पहले शिक्षक के रूप में नौकरी भी कर चुके हैं। कोटली संयुक्त समाज मोर्चा के गिद्दड़बाहा से उम्मीदवार है और वह कैबिनेट मंत्री अमरिंदर राजा वारिंग और अकाली दल के कद्दावर नेता डिंपी ढिल्लन के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। गुरप्रीत सिंह कोटली ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि, “मैंने 2014 के चुनाव में आप कार्यकर्ता के रुप में डॉक्टर साधु सिंह के साथ काम किया था लेकिन मैंने तब पार्टी छोड़ दी जब केजरीवाल ने मजीठिया से माफी मांगी। किसान आंदोलन ने मुझे खेती के मुद्दों के बारे में जानकारी दी। चूंकि मैं एक सीमांत किसान परिवार से हूं, इसलिए मैं उन मुद्दों को ज्यादा लोगों से बेहतर समझता हूं।”

अनिल कुमार गुप्ता, 34 वर्ष: अनिल कुमार गुप्ता एक अकाउंटेंट है और लुधियाना साउथ से चुनाव लड़ रहे। उनका परिवार गोरखपुर का रहने वाला है। अनिल कुमार गुप्ता ने द इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि, “मेरे निर्वाचन क्षेत्र में प्रवासी मतदाता अधिक है और मैं उनकी समस्याओं को जानता हूं, क्योंकि मैं खुद हर दिन उन्हीं समस्याओं से गुजरता हूं।” अनिल कुमार गुप्ता मौजूदा विधायक बलविंदर बैंस और अकाली सरकार में मंत्री रहे हीरा सिंह गाबरिया के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

नवदीप सांघा, 41 वर्ष: जिस दिन नवदीप ने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दिया, उसी दिन उन्हें संयुक्त समाज मोर्चा का टिकट मिला। नवदीप एक शराब कांट्रेक्टर है। संयुक्त समाज मोर्चा में आने से पहले नवदीप कांग्रेस और अकाली दल में भी रह चुके हैं। उनके परिवार का दावा है कि नवदीप सांघा एक फिल्म निर्माता भी हैं।

पढें पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (Punjabassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.