scorecardresearch

Punjab Elections: कौन हैं भगवंत मान, जिन्हें आप ने बनाया सीएम कैंडिडेट; जानें उनका पूरा Profile

आम आदमी पार्टी ने पंजाब सीएम कैंडिडेट के लिए इस बार फोन नंबर जारी कर जनता से राय मांगी थी। अरविंद केजरीवाल ने फोन पर मिली जनता की राय के आधार पर ही नए सीएम के नाम की घोषणा की है।

Bhagwant Mann AAP Punjab
AAP पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान (फाइल) Source- Indian Express

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए आम आदमी पार्टी AAP ने अपने सीएम कैंडिडेट के तौर पर भगवंत मान के नाम का ऐलान किया है। दिल्ली सीएम और आप के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को इसकी घोषणा की है। केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भगवंत मान को फोन और व्हाट्सएप के जरिए 93 फीसदी से ज्यादा वोट मिले हैं।

कौन हैं भगवंत मान- भगवंत सिंह मान का जन्म 17 अक्टूबर 1973 को पंजाब के संगरूर जिले में हुआ। शुरूआती पढ़ाई के बाद उन्होंने शहीद उधम सिंह गवर्नमेंट कॉलेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है। मान कॉलेज के समय से ही अपनी कॉमिक टाइम के लिए प्रसिद्ध होने लगे थे। उन्होंने यूथ कॉमेडी फेस्टिवल और इंटर कॉलेज प्रतियोगिताओं में भाग लिया। जहां उन्हें दो स्वर्ण पदक मिले थे। राजनीति में आने से पहले मान एक्टर और कॉमेडियन के तौर पर ही जाने जाते थे। इन्होंने कई पंजाबी फिल्मों में भी काम किया है।

राजनीति में एंट्री- राजनेताओं पर कटाक्ष और राजनीति पर व्यंग करने वाले भगवंत मान ने 2011 में राजनीति की दुनिया में एंट्री की थी। साल 2011 की शुरुआत में, मान ने पंजाब की पीपुल्स पार्टी का दामन थाम लिया और लेहरा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव भी लडे़। हालांकि यहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

आप में हुए शामिल- अन्ना आंदोलन से निकले अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी बनाई तो भगवंत मान इसी पार्टी में आ गए। भगवंत मान 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले आप में शामिल हो गए और अपने गृह जिले संगरूर लोकसभा क्षेत्र से चुनावी मैदान में उतर गए। तब मान 2 लाख वोटों के अंतर से जीते थे। मान की इस जीत ने पंजाब में उन्हें आप का चेहरा बना दिया। इसके बाद 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने सुखबीर सिंह बादल और रवनीत सिंह बिट्टू के खिलाफ जलालाबाद से चुनाव लड़ा। जहां से वो बादल से 18,500 वोटों के अंतर से चुनाव हार गए।

दोबारा बने लोकसभा सांसद- विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी ने 2019 में फिर से भगवंत मान को संगरूर से ही लोकसभा चुनाव के लिए मैदान में उतार दिया। मान इस बार केजरीवाल की उम्मीदों पर खड़ा उतरे और उन्होंने फिर से जीत हासिल कर ली। 2019 में आप के किसी और उम्मीदवार ने पंजाब में जीत हासिल नहीं की थी। इसके साथ ही भगवंत मान बिना किसी बड़े प्रतिद्वंदी के राज्य में आप का सबसे प्रमुख चेहरा भी बन गए।

सीएम फेस बनने के बाद क्या बोले मान- आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद, भगवंत मान ने कहा कि वह एक सैनिक हैं और वह पंजाब के गौरव को वापस लाना चाहते हैं। मान ने कहा- “मैंने हमेशा कहा कि मैं एक सैनिक हूं। राजनीति में आने के बाद मेरा जीवन बदल गया। जब मैं कॉमेडी करता था तो लोग हमेशा मुझ पर मुस्कुराते थे जब मैं उनसे मिलता था। अब लोगों को मुझ पर उम्मीद है। जब वे मुझे देखते हैं तो रोते हैं और कहते हैं कि हमें बचाओ।”

कैसे हुआ सीएम फेस का चुनाव- AAP ने मुख्‍यमंत्री का चेहरा फाइनल करने के लिए इस बार एक मोबाइल नंबर- 70748 70748 जारी किया था। इस नंबर पर कॉल करने के बाद पूछा गया कि पंजाब में AAP का मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होना चाहिए? बीप की आवाज के बाद कॉल करने वाला व्‍यक्ति जिसे भी मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर देखना चाहता है, वह उसका नाम लेता है।

पढें पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (Punjabassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.