कांग्रेस को नापसंद है नवजोत सिंह सिद्धू की मजाकिया छवि, द कपिल शर्मा शो छुड़वाने को राजी करने के लिए एक नेता को लगाया

कांग्रेस को नवजोत सिंह सिद्धू का मजाकिया अंदाज पसंद नहीं है। पार्टी को लगता है कि इससे उनके मंत्री की छवि हल्की और नॉन सीरियस लगेगी।

sidhu, navjot singh sidhuएक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवजोत सिंह सिद्धू। (पीटीआई/फाइल फोटो)

कांग्रेस को नवजोत सिंह सिद्धू का मजाकिया अंदाज पसंद नहीं है। पार्टी को लगता है कि इससे उनके मंत्री की छवि हल्की और नॉन सीरियस लगेगी। इस वजह से पार्टी के सीनियर चाहते हैं कि सिद्धू कॉमेडी नाइट विद कपिल में जाना छोड़ दें। लेकिन सिद्धू भी साफ कर चुके हैं कि वह मंत्री पद मिलने के बाद भी शो को छोड़ने की नहीं सोच रहे हैं। सिद्धू ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि वह रात में मुंबई जाकर शूटिंग करेंगे और सुबह मंत्रालय का काम देखेंगे। लेकिन कांग्रेस के सीनियर नेता अब भी पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए पार्टी ने एक सीनियर नेता को नवजोत सिंह सिद्धू के पीछे भी लगा दिया है। सूत्रों के मुताबिक, सीनियर नेता वही हैं जिन्होंने सिद्धू को कांग्रेस पार्टी में लाने में अहम भूमिका अदा की थी।

इस पूरे मामले पर सिद्धू ने कहा, “अगर मुझे समस्या नहीं है तो आप लोग क्यों चिंता कर रहे हो। अगर मुझे शो करना होगा तो मैं यहां (पंजाब) 3 बजे निकलूंगा और सुबह किसी के भी उठने से पहले वापस आ जाउंगा।”

लेकिन कांग्रेस को डर है कि विधायक के तौर पर सिद्धू को “ऑफिस ऑफ प्रॉफिट (लाभ का पद)” धारण करने वाला समझा जाएगा। कांग्रेस को यह भी डर सता रहा है कि पार्टी के ही अन्य नेता इस संबंध में चुनाव आयोग और पंजाब के गवर्नर को ना लिख दें।

सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनाव 2017 से कुछ वक्त पहले ही कांग्रेस पार्टी ज्वॉइन की थी। इससे पहले तक वह बीजेपी से सांसद थे। पंजाब में मिली जीत के बाद कांग्रेस नेता और अब पंजाब के मुख्यमंत्री बने अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को अपनी कैबिनेट में शामिल किया है। सिद्धू को स्थानीय प्रशासन और पर्यटन विभाग का प्रभार सौंपा गया है। इसके अलावा उनको कला-संस्कृति, पुरातत्व एवं संग्रहालयों का भी काम-काज दिया गया है।

पंजाब विधानसभा चुनाव 2017 में कांग्रेस ने 117 में से 77 सीटों पर जीत हासिल की है। दूसरे नंबर पर पंजाब में पहली बार चुनाव लड़ी आम आदमी पार्टी (आप) रही। उसको 20 सीटें मिली। बीजेपी-SAD का गठबंधन जिसकी चुनाव से पहले सरकार थी उसको कुल 18 सीटें मिलीं।

Next Stories
1 अमरिंदर सिंह के शपथ समारोह में पाकिस्‍तानी पत्रकार अरूसा आलम भी पहुंची, 2007 में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर खुद को बताया था कैप्‍टन का दोस्‍त
2 केवल 10 मिनट के लिए राहुल गांधी से मिले अमरिंदर सिंह, बोले- आप ने केवल सोशल मीडिया के जरिए बना रखी थी हवा
3 पंजाब चुनाव: कैप्टन का सरकार बनाने का दावा पेश, 16 को लेंगे शपथ
यह पढ़ा क्या?
X