ताज़ा खबर
 

पंजाब चुनाव: कैप्टन का सरकार बनाने का दावा पेश, 16 को लेंगे शपथ

प्रकाश सिंह बादल ने रविवार को चंडीगढ़ पहुंच कर पहले अपने सहयोगियों से चर्चा की और उसके बाद वह दोबारा पंजाब भवन पहुंचे और वहां आकर उन्होंने नए चुने विधायकों के साथ बैठक की।

चंडीगढ़ | March 12, 2017 11:00 PM
पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो)

 

पंजाब के कार्यवाहक मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस बीच राज्यपाल ने पंजाब विधानसभा को भंग कर दिया है। बादल ने पंजाब भवन में अपने साथ काम करने वाले अधिकारियों, मंत्रियों और नेताओं के साथ बैठक करने के बाद पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर से मुलाकात करके उन्हें इस्तीफा सौंप दिया। पंजाब की राजनीति में आज दिनभर नए-नए घटनाक्रम होते रहे। प्रकाश सिंह बादल ने रविवार को चंडीगढ़ पहुंच कर पहले अपने सहयोगियों से चर्चा की और उसके बाद वह दोबारा पंजाब भवन पहुंचे और वहां आकर उन्होंने नए चुने विधायकों के साथ बैठक की। इस बैठक में अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल भी मौजूद थे चुनाव हारने के बाद पहली बैठक में बादल ने हार के कारणों पर अपने नेताओं से जानकारी ली।  इसी दौरान दोपहर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। जिसमें पार्टी प्रभारी आशा कुमार व राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की उपस्थिति में पंजाब में नए चुने कांग्रेस विधायकों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को विधायक दल का नेता चुन लिया। इस बैठक के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब राज भवन गए और पंजाब के राज्यपाल से मुलाकात करके उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया। जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया। कैप्टन अमरिंदर सिंह और नई सरकार में बनने वाले मंत्री 16 मार्च को चंडीगढ़ में पद व गोपनीयता की शपथ ग्रहण करेंगे।

इसी दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 14 मार्च को वह दिल्ली जाकर पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे। जहां नई सरकार में बनने वाले मंत्रियों के बारे में चर्चा करते हुए सरकार का खाका तैयार होगा। उन्होंने कहा कि पंजाब में उपमुख्यमंत्री बनाए जाने के बारे में अंतिम निर्णय पार्टी आला कमान द्वारा किया जाएगा।अमरिंदर सिंह को पार्टी कार्यालय में एक बैठक में नवनिर्वाचित पार्टी विधायकों ने आमराय से पार्टी बाकी पेज 8 पर विधायक दल का नेता चुना। नवजोत सिंह सिद्धू, परगट सिंह, राज कुमार वर्क इस बैठक में मौजूद थे। कांग्रेस ने 77 सीटें जीत कर शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन का दस साल का शासन समाप्त कर दिया है। आम आदमी पार्टी 20 सीटें जीत कर दूसरे नंबर पर और शिअद-भाजपा गठबंधन 18 सीटेंं जीत कर तीसरे नंबर पर रहे। पांच बार के मुख्यमंत्री रहे बादल ने पंजाब कांग्रेस के प्रमुख अमरिंदर सिंह को हरा कर अपनी लांबी सीट बरकरार रखी है। वैसे अमरिंदर ने अपना पारंपरिक गढ़ पटियाला सीट को बचा लिया। शिअद और भाजपा को 31 फीसद मत, कांग्रेस को 38 फीसद और आप को 23 फीसद मत मिले।

Next Stories
1 पंजाब में फूटा आप का गुब्बारा, 10 साल बाद कांग्रेस की वापसी
2 पंजाब विधानसभा चुनाव नतीजे 2017: इन वजहों से पंजाब में आम आदमी पार्टी की उम्मीदें हो गईं चकनाचूर
3 पंजाब चुनाव नतीजे 2017: 77 सीटें जीतकर कांग्रेस 10 साल बाद सत्‍ता में जोरदार वापसी, आप दूसरी बड़ी पार्टी बनी
ये  पढ़ा क्या?
X