ताज़ा खबर
 

प्रियंका गांधी के सामने लगे मोदी-मोदी के नारे, कांग्रेस-बीजेपी सपोर्टर्स में जमकर मारपीटः PHOTOS

वाराणसी के अस्सी घाट पर प्रियंका गांधी के सामने मोदी-मोदी के नारे लगने की बात सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस के कार्यकर्ता लोगों से जबरन ‘मोदी चोर है’ के नारे लगाने को कह रहे थे, जिसका विरोध किया गया।

रामनगर में भिड़े कांग्रेस और बीजेपी समर्थक। फोटो सोर्स : स्थानीय

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अपनी तीन दिवसीय गंगा यात्रा के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंच चुकी हैं। इस दौरान अस्सी घाट पर ‘सांची बात, प्रियंका के साथ’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में कांग्रेसियों द्वारा ‘मोदी चोर है’ नारा लगाया जा रहा था। इंटरव्यू के दौरान अपर्णा नामक बीकॉम तृतीय वर्ष की छात्रा को भी यह नारा लगाने को कहा गया। बताया जा रहा है कि छात्रा ने विरोध जताया तो उसके साथ बदसलूकी की गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने छात्रा की पिटाई भी की। ऐसे में लोगों ने प्रियंका गांधी के सामने ही मोदी-मोदी के नारे लगाए।

उधर, कांग्रेस और बीजेपी समर्थकों के बीच मारपीट होने की जानकारी मिली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वाराणसी में प्रियंका गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया था, जिसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने प्रतिमा का शुद्धिकरण किया, जिससे कांग्रेसी भड़क गए।

प्रियंका गांधी ने अस्सी घाट पर मल्लाह समाज को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। प्रियंका को समर्थकों ने इस कदर घेर रखा था कि उन्होंने मंच पर पहुंचने से पहले ही अपना भाषण शुरू कर दिया। इस दौरान उन्होंने ‘जय हिंद’ के नारे भी लगाए। प्रियंका गांधी ने कहा कि उन्होंने बोट से आते वक्त मल्लाह बिरादरी से बात की। उन्होंने बताया, ‘‘पुल के नीछे 10,000 परिवार हैं। उनकी नाव का बीमा होना चाहिए और रोजगार नियमित होना चाहिए। ऐसी सरकार होनी चाहिए, जो आपकी जरूरत को समझे।’’ प्रियंका ने वादा किया कि केंद्र में सरकार आने पर मछुआरों की समस्याओं के लिए अलग मंत्रालय बनाया जाएगा।

अस्सी घाट से कांग्रेस महासचिव दशाश्वमेध घाट पहुंचीं, जहां उन्होंने गंगा पूजन किया। विधि-विधान से गंगा पूजन करने के बाद उन्होंने घाट पर ही होलिका का भी पूजन किया। इसके बाद प्रियंका गाड़ी में बैठकर बाबा के दरबार की तरफ चल दीं। सड़क किनारे खड़ी जनता को देख उन्होंने गाड़ी से बाहर निकलकर हाथ हिलाना शुरू कर दिया। काशी विश्वनाथ मंदिर में उन्होंने विधि-विधान से षोडशोपचार पूजन किया।

प्रियंका गांधी का काफिला विश्वनाथ मंदिर के लिए बढ़ा। यहां मौजूद भीड़ का मिजाज भांपते हुए प्रियंका ने खिड़की का शीशा खोल दिया। हाथ हिलाते हुए जनता का उन्होंने अभिवादन किया। कुछ जगहों पर पुष्पवर्षा कर उनका स्वागत किया गया। प्रियंका के काफिले में शामिल गाड़ियों की रफ्तार इतनी धीमी थी कि लोग आराम से चलते वक्त उनकी गाड़ी के साथ सेल्फी ले रहे थे। कुछ लोगों ने इसे प्रियंका का अघोषित रोड शो बताया तो कुछ लोगों ने इसे पॉलीटिकल स्टंट करार दिया।

प्रियंका गांधी बाबा दरबार से दर्शन करके निकलने के बाद विश्वनाथ कॉरिडोर में अपनी दुकान गंवा चुके पीड़ित लोगों से भी मुलाकात की।प्रियंका ने उन्हें आश्वासन दिया कि हमारी सरकार आती है तो इस योजना की निष्पक्ष जांच होगी और सभी के साथ न्याय होगा।

बता दें कि प्रियंका गांधी वाड्रा बोट द्वारा तीन दिवसीय गंगा यात्रा पर निकली हुई हैं। उनकी यात्रा प्रयागराज के मनैया घाट से 18 मार्च को शुरू हुई थी। यह यात्रा करीब 140 किमी लंबी थी। अब 20 मार्च (बुधवार) को प्रियंका वाराणसी पहुंची चुकी हैं। यहां बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन करने के बाद वे शहीद रमेश यादव के घर जाएंगी। साथ ही, लोगों को भी संबोधित करेंगी। बता दें कि आज शाम प्रियंका दिल्ली वापस लौट जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App