ताज़ा खबर
 

अखबार का दावा- उद्धव ठाकरे से मुलाकात में प्रशांत किशोर ने दिया नीतीश कुमार को पीएम बनवाने का प्‍लान

सूत्रों के मुताबिक किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस, तेलंगाना राष्ट्र समिति, बीजू जनता दल और एआईएडीएमके को ऐसे क्षेत्रीय दलों में शामिल किया जो जरूरत पड़ने पर नीतीश कुमार को पीएम के रूप में समर्थन दे सकते हैं।

Author Updated: February 7, 2019 2:55 PM
शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे के साथ जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर। (फोटो-ट्विटर)

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने मंगलवार (05 फरवरी) को मुंबई में शिव सेना के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की थी। इस दौरान प्रशांत किशोर ने एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश की। इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक प्रशांत किशोर ने पहले तो लोकसभा चुनावों के लिए शिव सेना की चुनावी रणनीति संभालने के बावत बात की, इसके बाद उन्होंने शिवा सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से इस बात पर भी चर्चा की कि वो हर हाल में एनडीए में बने रहें। इसके अलावा प्रशांत किशोर ने अपनी पार्टी अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनाने के पक्ष में भी फील्डिंग की। शिव सेना के सूत्रों के मुताबिक अगर आगामी लोकसभा चुनाव के परिणाम त्रिशंकु रहते हैं तब किशोर ने नीतीश कुमार को पीएम बनाने का फार्मूला उद्धव ठाकरे से साझा किया है।

अखबार के मुताबिक प्रशांत किशोर ने शिव सेना की बैठक में आगामी चुनावों के बाद की परिस्थितियों पर चर्चा करते हुए कहा कि अगर भाजपा की अगुवाई वाले एनडीए को पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है तब नीतीश कुमार जैसे चेहरे को आगे कर उन गैर एनडीए क्षेत्रीय दलों से समर्थन लिया जा सकता है जो गैर कांग्रेसी सरकार चाहते हैं। किशोर के मुताबिक ऐसे दलों के 100 सांसद जीत कर आ सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस, तेलंगाना राष्ट्र समिति, बीजू जनता दल और एआईएडीएमके को ऐसे क्षेत्रीय दलों में शामिल किया जो जरूरत पड़ने पर नीतीश कुमार को पीएम के रूप में समर्थन दे सकते हैं। बता दें कि पिछले साल राज्य सभा के उप सभापति के चुनाव में भी नीतीश की पार्टी के उम्मीदवार को बीजू जनता दल ने समर्थन दिया था।

उद्धव ठाकरे के अलावा प्रशांत किशोर ने उनके बेटे आदित्य ठाकरे और पार्टी सांसद संजय राउत से भी मुलाकात की। जब इस बारे में संजय राउत से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि किशोर ने आगामी लोकसभा चुनाव में शिव सेना के लिए इलेक्शन कैम्पेनिंग से जुड़े काम का ऑफर दिया। इसके अलावा किशोर ने आगामी चुनाव परिणाम और आगे की राजनीतिक संभावनाओं और सरकार बनने की संभावनाओं पर भी चर्चा की। बता दें कि किशोर की टीम आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस के लिए भी काम कर रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ने भाजपा के साथ काम किया था। उन्हें  नरेंद्र मोदी के साथ ‘चाय पे चर्चा’ अभियान की शुरुआत करने का भी श्रेय दिया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राहुल गांधी का ऐलान- 3 महीने में समझ जाएंगे…नरेंद्र मोदी और RSS को हराने जा रही कांग्रेस
2 राजस्थान में फिर उठी गुर्जर आरक्षण की मांग, सचिन पायलट बोले- केंद्र करे विचार
3 Election 2019 Updates: 9 फरवरी को त्रिपुरा में रैली करेंगे पीएम मोदी