ताज़ा खबर
 

मोदी-योगी को टक्कर देने के मंसूबों पर फिर पानी, नेताओं के ये हमशक्ल नहीं लड़ पाएंगे चुनाव

पीएम मोदी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक का नामांकन इसलिए रद्द कर दिया गया है क्योंकि उन्होंने अपने नामांकन में कई जरुरी कॉलम खाली छोड़ दिए थे।

पीएम मोदी के हमशक्ल और योगी आदित्यनाथ के हमशक्ल का लखनऊ से नामांकन रद्द हो गया है। (image source-ani)

मौजूदा लोकसभा चुनावों में नेताओं के हमशक्ल भी चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं। इनमें पीएम मोदी के हमशक्ल और सीएम योगी के हमशक्ल भी शामिल हैं। हालांकि अब इन हमशक्लों के मंसूबों पर पानी फिर गया है। दरअसल चुनाव आयोग ने इन प्रत्याशियों का नामांकन रद्द कर दिया है। नामांकन के रद्द होने के पीछे तकनीकी वजह बतायी जा रही है। बता दें कि उत्तर प्रदेश की हाई प्रोफाइल मानी जाने वाली लखनऊ लोकसभा सीट से 36 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। इनमें पीएम मोदी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक और सीएम योगी के हमशक्ल सुरेश ठाकुर भी शामिल थे।

हालांकि शनिवार को स्क्रूटनी के बाद लखनऊ सीट से अब 36 में से सिर्फ 15 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। दरअसल बाकी के नामांकन तकनीकी खामी के चलते रद्द हो गए हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, जिला चुनाव अधिकारी ने बताया है कि पीएम मोदी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक का नामांकन इसलिए रद्द कर दिया गया है क्योंकि उन्होंने अपने नामांकन में कई जरुरी कॉलम खाली छोड़ दिए थे। अभिनंदन पाठक निर्दलीय चुनाव मैदान मे थे। साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के हमशक्ल सुरेश ठाकुर का नामांकन भी रद्द कर दिया गया है। सुरेश ठाकुर ने मौलिक अधिकार पार्टी के टिकट से नामांकन किया था।

बताया गया है कि सुरेश ठाकुर को बेईमानी के चलते सरकारी नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था। जिसके चलते उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई है। शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार राकेश कुमार ठकुराल का नामांकन भी रद्द कर दिया गया है। ठकुराल का आवेदन रद्द करने की वजह उनके द्वारा नामांकन के साथ 2 हलफनामे देने का बताया गया है, जबकि नियमों के अनुसार, नामांकन के साथ 4 हलफनामे देने होते हैं। लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि लखनऊ सीट के उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट सोमवार को जारी की जाएगी, क्योंकि सोमवार को ही नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन है।

बता दें कि लखनऊ लोकसभा सीट से कुल 51 उम्मीदवारों ने नामांकन किया था। जिनमें से अधिकतर का नामांकन तकनीकी गलतियों के कारण रद्द हो गया है। जिन उम्मीदवारों का नामांकन रद्द हुआ है, उनमें से अधिकतर निर्दलीय या फिर अपेक्षाकृत नई पार्टियों के उम्मीदवार थे। लखनऊ सीट से ही केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी चुनाव मैदान में हैं। वहीं उनका सामना सपा उम्मीदवार और पूर्व भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा से होगा। भाजपा छोड़ने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस में शामिल हुए हैं, वहीं उनकी पत्नी पूनम सिन्हा ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App