ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी का वार- अंग्रेजी नहीं बोल सकते नरेंद्र मोदी, आयुष्‍मान भारत के लेटर हेड पर छपवा रखा है कमल का फूल

ममता ने आगे भी साफ किया कि वह पीएम द्वारा शुरू की गई केंद्रीय स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत का समर्थन नहीं करेंगी।

Author January 11, 2019 12:51 PM
प.बंगाल की सीएम इससे भी कई चीजों को लेकर पीएम मोदी की कड़ी आलोचना करती रही हैं। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की मुखिया ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जुबानी वार किया है। शुक्रवार (11 जनवरी, 2019) को नदिया जिले में हुए एक रैली में उन्होंने कहा, “पीएम बड़े-बड़े भाषण तो देते हैं, पर अंग्रेजी नहीं बोल सकते हैं।” ममता ने आगे भी साफ किया कि वह पीएम द्वारा शुरू की गई केंद्रीय स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत का समर्थन नहीं करेंगी। बोलीं- आयुष्मान भारत के लेटर हेड पर पीएम ने कमल के फूल के साथ अपनी तस्वीर छपवा रखी है।

ममता ने कहा, “हम (बंगाल) अब से आयुष्मान भारत में सहयोग नहीं देंगे। आयुष्मान भारत के लेटर हेड पर अगर पीएम के चेहरे वाले फोटो के साथ कमल के फूल का चिह्न होगा तो आखिर हम क्यों उस योजना का समर्थन करें। लेटर हेड में उस जगह तो भारत सरकार का लोगो होना चाहिए।”

बकौल ममता, “वह (पीएम) बड़े-बड़े भाषण तो देते हैं, पर अंग्रेजी नहीं बोल सकते। वह टेलीप्रॉम्टर का इस्तेमाल करते हैं। मीडिया यह बात जानती है। हमें भी यह मालूम है। आप स्क्रीन देखते हैं, पढ़ते हैं और फिर बोलते हैं…यह टेलीप्रॉम्टर का कमाल है। पर हम इस तरह की चीजों का प्रयोग नहीं करते।”

बता दें कि आयुष्मान योजना सितंबर 2018 में लॉन्च हुई थी। उस दौरान कुल पांच राज्यों ने इसका समर्थन करने से इन्कार कर दिया था। उन पांचों राज्यों में पश्चिम बंगाल भी शामिल था। इन राज्यों ने दावा किया था कि उनके पास पहले से ही बेहतर स्वास्थ्य योजनाएं हैं। ऐसे में वे पीएम मोदी वाली योजना को क्यों लागू करें? बंगाल के अलावा इन पांच राज्यों में ओडिशा, दिल्ली, केरल और पंजाब थे, जहां पर बीजेपी की सरकारें नहीं हैं।

ममता इसके अलावा आम चुनाव को ध्यान में रखते हुए 19 जनवरी को कोलकाता में एक रैली करेंगी। राजनीतिक जानकारों की मानें तो यह आयोजन उनकी ओर से विपक्षी पार्टियों को एक मंच पर लाने के मकसद से किया जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव और आंध्र प्रदेश के सीएम वे तेलगु देसम पार्टी (टीडीपी) प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के वहां पहुंचने की उम्मीद है। हालांकि, तेलंगाना के सीएम और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष के.चंद्रशेखर राव कार्यक्रम में नहीं जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X