ताज़ा खबर
 
title-bar

‘कांग्रेस को भारी पड़ेगा’, साध्वी प्रज्ञा के साथ खड़े हुए पीएम मोदी, विपक्ष ने कहा- अगला टिकट बाबू बजरंगी को दीजिए

Lok Sabha Election 2019: पीएम मोदी ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा की भोपाल से उम्मीदवारी एक 'प्रतीक' है, उनके लिए जिन्होंने यह किया। यह 'प्रतीक' कांग्रेस को भारी पड़ने वाला है।"

पीएम मोदी ने साध्वी प्रज्ञा का समर्थन किया। (image source-pti)

Lok Sabha Election 2019: मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। उम्मीदवारी की घोषणा के बाद से ही विपक्षी पार्टियां भाजपा और साध्वी प्रज्ञा पर हमलावर हो गई हैं। बता दें कि साध्वी प्रज्ञा साल 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट में आरोपी हैं और फिलहाल जमानत पर जेल से बाहर हैं। इस फैसले को लेकर भाजपा पर चारों तरफ से हमले हो रहे हैं, लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद साध्वी प्रज्ञा के बचाव में आ गए हैं। दरअसल शुक्रवार को टाइम्स नाउ को दिए एक इंटरव्यू में पीएम मोदी ने साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी का बचाव किया। वहीं पीएम मोदी के बयान के बाद विपक्षी पार्टियों ने भी पलटवार किया है।

पीएम बोले- ‘कांग्रेस को भारी पड़ेगा’: इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि “एक सभ्यता, जो बीते 5000 सालों से वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया, उसे आतंकवाद के साथ जोड़ा गया! साध्वी प्रज्ञा की भोपाल से उम्मीदवारी एक ‘प्रतीक’ है, उनके लिए जिन्होंने यह किया। यह ‘प्रतीक’ कांग्रेस को भारी पड़ने वाला है।” पीएम ने कहा कि ‘एक महिला, जो कि साध्वी है, उसे इतनी बुरी तरह से प्रताड़ित किया गया।’ पीएम मोदी ने सिख दंगों को लेकर कांग्रेस को घेरा और आरोप लगाया कि ‘अमेठी के सांसद और रायबरेली की सांसद भी जमानत पर बाहर हैं, लेकिन उनके बारे में कोई कुछ नहीं बोल रहा है!’

पीएम मोदी के इस बयान पर विपक्षी पार्टियों ने पलटवार किया है। सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता घनश्याम तिवारी ने टाइम्स नाउ के साथ बातचीत में कहा पीएम के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि “मैं प्रधानमंत्री जी को निवेदन करूंगा कि आप अपनी पार्टी का अगला टिकट बाबू बजरंगी, आसाराम बापू, राम रहीम को भी दीजिए। इसके अलावा तिहाड़ जेल में ऐसे लोगों की कमी नहीं है। इससे आपका राष्ट्रवाद पूरी दुनिया को दिखाई देगा कि आप कितने बड़े राष्ट्रवादी हैं! सपा प्रवक्ता ने कहा कि यदि आज गोडसे जिंदा होता तो शायद आप उसे भी टिकट देते।” बता दें कि बाबू बजरंगी गुजरात दंगे में मुख्य आरोपी है। वहीं आसाराम और राम रहीम बलात्कार और हत्या के आरोपों में जेल में बंद हैं।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App