ताज़ा खबर
 

‘चौकीदार चोर’ पर अमेठी और रायबरेली के लोगों की राय, कहा- नहीं देना चाहिए ऐसा नारा

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी चुनावी सभाओं में लगातार 'चौकीदार चोर' का नारा लगाकर पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोल रहे हैं। ऐसे में राहुल के इस नारे के बारे में जनता क्या सोचती है? इस बारे में रायबरेली हुए अमेठी की जनता ने अपनी राय दी।

Author May 4, 2019 8:59 PM
पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी फोटो सोर्स- फाइनेंसियल एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: पीएम मोदी अपने भाषण में खुद को देश का चौकीदार बताते रहे हैं, लेकिन राफेल डील में घोटाले का आरोप लगाकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उन्हें चोर कहने लगे। धीरे-धीरे कांग्रेस ने ‘चौकीदार चोर है’ को अपना अहम नारा बना लिया, जिसके जवाब में पीएम मोदी ने ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान तक चलाया। ऐसे में टीम जनसत्ता ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली व अमेठी के अलावा कई जिलों का दौरा किया और लोगों से पूछा कि कांग्रेस के इस नारे के बारे में उनकी क्या राय है…

ऐसे शब्दों का इस्तेमाल गलत बात: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘चौकीदार चोर है’ नारे को लेकर जनसत्ता की टीम ने रायबरेली के लोगों से बात की। मुंशीगंज कस्बे में रहने वाले प्रमोद कुमार ने कहा, “यह खाली नारेबाजी है। इसमें किसी का कोई दखल नहीं है, लेकिन गलत शब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। किसी को भी चोर नहीं कहना चाहिए।’’ वहीं, भीमनगर के पप्पू कुमार ने भी राहुल गांधी के इस नारे को गलत बताया। उन्होंने कहा कि देश के पीएम के बारे में ऐसा नहीं बोलना चाहिए।

एक क्लिक में जानें किसी भी लोकसभा सीट की पूरी जानकारी

अमेठी के लोगों ने कही यह बात: 5वें चरण के चुनाव के तहत अमेठी में 6 मई को मतदान होगा। यहां गोसाईगंज के रहने वाले विनोद कुमार पांडेय ने कहा, “पीएम किसी पार्टी विशेष के नहीं होते हैं, वह पूरे राष्ट्र के होते हैं। राहुल यदि ऐसा बोलते हैं तो वह देश को चोर कह रहे हैं। मैं इस मुद्दे पर राहुल गांधी का समर्थन नहीं करता हूं। उन्हें पीएम के बारे में यह कहने का बिल्कुल भी अधिकार नहीं है।”

लखनऊ के लोग बोले यह देश के चौकीदारों का अपमान: लखनऊ निवासी अनिल पचौरी कहते हैं कि राहुल गांधी ‘चौकीदार चोर है’ कहकर देश के उन सभी चौकीदारों का अपमान कर रहे हैं, जो सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं या फिर चौकीदारी करते हैं। चौकीदार चोर हो ही नहीं सकता। वह तो हमेशा देश के लोगों की सुरक्षा करके जीवन बिताता है। पीएम मोदी ने खुद को चौकीदार कहा तो राहुल गांधी सब चौकीदारों को चोर कहने लगे, जबकि राहुल खुद ही भ्रष्ट हैं।

बाराबंकी के लोग बोले अपने-अपने संस्कार: बाराबंकी के लोग भी 6 मई को ही अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। जनसत्ता की टीम यहां की सत्यप्रेमी नगर कॉलोनी पहुंची तो डॉ. नागेंद्र सिंह से मुलाकात हुई। ‘चौकीदार चोर है’ नारे पर उन्होंने कहा, “यह विचार और संस्कार की बात है। पीएम पद पर बैठे व्यक्ति को चोर बोलकर आप अपनी मानसिकता दर्शा रहे हैं। देश के लोग समझ रहे हैं कि आखिर चोर कौन है?” उनके पास बैठे युवा अंजनी कुमार गुप्ता ने भी इस नारे को गलत बताया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App