ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव परिणाम 2017: बीजेपी की जीत पर जनसत्ता.कॉम के पाठकों की समीक्षा

Gujarat Election Chunav Result 2017 (गुजरात चुनाव परिणाम 2017): कुछ ने कांग्रेस की इस हार के लिए पार्टी से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर को दोषी बताया तो वहीं कुछ ने बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे को आगे रखने को इसका कारण बताया।

गुजरात में भाजपा ने फिर से सत्‍ता हासिल कर ली है। गुजरात में भाजपा ने 99 कांग्रेस ने 80 और अन्‍य ने 3 सीटें जीत ली हैं। 2012 में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 115 सीटें मिली थीं वहीं कांग्रेस के खाते में 61 सीटें आई थीं। इस बार के नतीजों में बीजेपी को लगभग 15 सीटों का नुकसानम हुआ है तो वहीं कांग्रेस 20 सीटों के फायदे पर है। हिमाचल प्रदेश में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनना तय है। यहां की 68 सीटों में से 43 पर बीजेपी जीतती नजर आ रही है। गुजरात में बीजेपी की जीत पर जनसत्ता.कॉम ने अपने पाठकों को चुनाव विश्लेषक बनने का मौका दिया था। हमने आपसे पूछा था कि गुजरात में बीजेपी की जीत और राहुल गांधी की हार के क्या कारण हैं?

जनसत्ता.कॉम के पाठकों ने बढ़-चढ़ कर इस बहस में हिस्सा लिया। हमारे पाठकों ने इस पर साफगोई से अपनी बात रखी। पाठकों में से कुछ ने कांग्रेस की इस हार के लिए पार्टी से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर को दोषी बताया तो वहीं कुछ ने बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे को आगे रखने को इसका कारण बताया।

कुछ पाठकों ने 22 साल की एंटी इंकंबेंसी के बाद भी बीजेपी की इस जीत के लिए गुजरात की जनता और पार्टी के बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को श्रेय दिया। हमारे एक पाठक ने ये भी लिखा कि बीजेपी सिर्फ विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़कर जीतती तो ये उसकी जीत कहलाती लेकिन उसने धर्म औऱ जाति के नाम पर ये चुनाव जीता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App