ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: बीएसपी ने ओडिशा में ट्रांसजेंडर को दिया टिकट, जानें कौन हैं काजल?

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): बहुजन समाज पार्टी ने ओडिशा की कोरई सीट से ट्रांसजेंडर काजल नायक को टिकट दिया है। काजल ट्रांसजेंडर असोसिएशन ऑफ जाजपुर की अध्यक्ष हैं और एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

Author Updated: March 17, 2019 11:12 AM
काजल नायक ( फोटो सोर्स : ANI )

Lok Sabha Election 2019: बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने ओडिशा लोकसभा में एक ट्रांसजेंडर काजल को टिकट दिया है। उन्हें जाजपुर जिले के कोरई विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिया गया है। बता दें कि काजल ट्रांसजेंडर असोसिएशन ऑफ जाजपुर की अध्यक्ष हैं और पूरे समाज के कल्याण के लिए लगातार काम कर रही हैं।

अन्य कैटिगिरी से लड़ेंगी काजलः बहुजन समाज पार्टी ने शनिवार को कोरई सीट से ट्रांसजेंडर काजल नायक को टिकट देने का ऐलान किया। काजल ट्रांसजेंडर असोसिएशन ऑफ जाजपुर की अध्यक्ष हैं और सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं। बताया जा रहा है कि सामाजिक कार्यकर्ता होने के कारण वे चुनाव लड़ना चाहती थीं। इसके लिए उन्होंने कई राजनीतिक पार्टियों से अपील की थी, लेकिन किसी ने उन्हें मौका नहीं दिया। ऐसे में बीएसपी से टिकट मिलने के बाद उन्होंने पार्टी सुप्रीमो मायावती का आभार जताया है।

यह बोलीं काजल :  काजल ने कहा, ‘‘मैं एक दशक से सामाजिक कार्यों के माध्यम से जाजपुर क्षेत्र के लोगों के साथ जुड़ी हुई हूं। मेरे काम से प्रभावित होकर ओडिशा बीएसपी प्रमुख कृष्ण चंद्र सागरिया ने मुझे कोरई से चुनाव लड़ने के लिए पार्टी टिकट की पेशकश की। राज्य के बीएसपी नेता कृष्ण चंद्र सागरिया ने बताया, “बीएसपी सभी समुदायों के सामाजिक सशक्तीकरण में विश्वास रखती है। ऐसे में हमारी पार्टी ने काजल नायक को इलाके में सक्रिय सामाजिक गतिविधियों के लिए उम्मीदवार बनाने का फैसला किया है। हम ट्रांसजेंडर्स को समाज की मुख्यधारा में लाना चाहते हैं।’’

इसी साल दी 10वीं की परीक्षा : ओडिशा लोकसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी की तरफ से चुनावी मैदान में उतरीं काजल ने इसी साल 10वीं की परीक्षा दी है। उनका जन्म भद्रक जिले के चंदबली ब्लॉक स्थित गोलडिया गांव में हुआ था। वे अपने 6 भाई-बहनों में सबसे छोटी हैं।जब वे 5वीं कक्षा में थीं तो उनके स्वभाव में लड़कियों की तरह परिवर्तन आने लगा। ऐसे में उन्होंने लड़कियों जैसे कपड़े पहनने शुरू कर दिए।लोगों ने विरोध जताया तो उन्होंने घर छोड़ दिया और जाजपुर में ट्रांसजेंडर्स के साथ रहने लगीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Tamil Nadu: दिनाकरन की पार्टी AMMK ने जारी की पहली कैंडिडेट लिस्ट, लोकसभा के 24 और विधानसभा के 9 नाम घोषित
2 Lok Sabha Election 2019: शरद पवार की बेटी सुप्रिया का परिवार में रार से इनकार, सबूत के तौर पर फोटो किया पोस्ट, कहा- भतीजे को टिकट मिलने से सभी खुश
3 Lok Sabha Election 2019: दिग्विजय सिंह से बोले कमलनाथ- चुनाव लड़ना है तो सबसे मुश्किल सीट पर लड़‍िए