ताज़ा खबर
 

भाजपा, शिव सेना एकसाथ लड़ सकती है लोकसभा चुनाव, असेंबली में होंगे जुदा, बोले शरद पवार

ईवीएम की विश्वसनीयता के सवाल पर पवार ने कहा कि बेहतर होता कि चुनाव आयोग बैलेट पेपर के जरिए ही चुनाव कराए।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार ने अनुमान जाहिर किया है कि भाजपा और शिवसेना आगामी लोकसभा चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ सकती हैं लेकिन हो सकता है कि वे महाराष्ट्र में विधान सभा चुनाव एक साथ न लड़ें। शुक्रवार (12 अक्टूबर) की रात मुंबई में संवाददाताओं के साथ बातचीत में उन्होंने दोनों चुनाव एक साथ कराये जाने की संभावनाओं को खारिज कर दिया और कहा कि अब राजनीतिक स्थितियां बदल गई हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार पिछले कुछ समय से लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने की वकालत कर रही थी।

बता दें कि इस साल की शुरूआत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराये जाने पर ‘व्यापक’ बहस करने का आह्वान करते हुये कहा था कि इससे धन की बचत होगी। पवार ने कहा, ‘‘भाजपा और शिवसेना लोकसभा चुनाव के लिये हाथ मिला सकते हैं लेकिन हो सकता है वे राज्य विधान सभा चुनाव के लिए एक साथ ना आएं।’’ केन्द्र और राज्य में सत्ता में साझीदार होने के बावजूद भाजपा और शिवसेना के बीच तनावपूर्ण संबंध हैं। हालांकि, शिव सेना पहले ही ऐलान कर चुकी है कि आगामी चुनावों में वो अकेला चलेगी लेकिन भाजपा शिव सेना के साथ चुनावी गठबंधन की कोशिशों का जारी रखे हुए है। पिछले महीने अगस्त में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मातो श्री जाकर उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी।

ईवीएम की विश्वसनीयता के सवाल पर पवार ने कहा कि बेहतर होता कि चुनाव आयोग बैलेट पेपर के जरिए ही चुनाव कराए। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर सभी विपक्षी राजनीतिक दल अगले एक पखवाड़े के अंदर मुलाकात करेंगे और इस पर चर्चा करेंगे। राफेल डील पर पवार ने फिर से संयुक्त संसदीय समिति से जांच करना के अपनी मांग दोहराई है। उन्होंने भाजपा को याद दिलाया कि कैसे बोफोर्स दलाली केस में बीजेपी ने जेपीसी जांच की मांग की थी। उस वक्त राजीव गांधी की सरकार ने विपक्ष की इस मांग को माना था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App