ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के वोटर्स को लिखा लेटर, कहा- बीजेपी ने दी चुनाव न लड़ने की सलाह

बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का एक लेटर कानपुर में खूब सुर्खियां बटोर रहा है। इसमें उन्होंने लिखा है कि मेरे प्यारे कानपुर के मतदाता, बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने सलाह दी है कि कानपुर और उसके अलावा मुझे कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी फोटो सोर्स- जनसत्ता

Lok Sabha Election 2019: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा मंगलवार को पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद मुरली मनोहर जोशी से आगामी लोकसभा चुनाव 2019 नहीं लड़ने के लिए कहा गया है। पार्टी के इस फैसले की पुष्टि करते हुए जोशी ने एक पत्र में कहा, “कानपुर के प्रिय मतदाताओं, रामलाल (संगठन के महासचिव) ने मुझे आज अवगत कराया कि मुझे कानपुर और अन्य जगहों पर आगामी संसदीय चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।” बता दें कि लोकसभा चुनाव से ऐन पहले जोशी के नाम का यह पत्र सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि आपने आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का अपमान किया है।

पार्टी का फैसला मान्य: मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कानपुर से सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी को गंगा मेले के मौके पर कानपुर आना था, लेकिन पार्टी हाई कमान से उन्हें सलाह दी तो उन्होंने अपना दौरा रद्द कर दिया। बताया जा रहा है कि जोशी पार्टी हाई कमान के फैसले के तहत आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे।

क्या बोले केजरीवाल: इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जोशी को टिकट नहीं दिए जाने के मुद्दे पर बीजेपी पर तंज कसा है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “मोदी जी जिस तरह अपने बुजुर्गों आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का अपमान किया है, ये हिंदू संस्कृति के खिलाफ है। हिंदू धर्म में अपने बुजुर्गों का सम्मान करना सिखाया गया है।”

जोशी के नाम से वायरल होता लेटर

2014 में कानपुर से बने थे सांसद: बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बीच डॉ मुरली मनोहर जोशी ने तीन बार के सांसद व पूर्व केंद्रीय कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को 2,22,946 वोटों से हराया था। जोशी को 4,74,712 वोट मिले थे और पूर्व कांग्रेस के श्रीप्रकाश जायसवाल को 2,51,766 वोट हासिल हुए थे। अब हालात बदल चुके हैं। कांग्रेस का मानना है कि यदि जोशी कानपुर से दोबारा चुनाव लड़ते हैं तो इसका फायदा कांग्रेस को मिलेगा, क्योंकि शहर की जनता में उनके खिलाफ आक्रोश है।

बीजेपी का बयान: बीजेपी जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी के मुताबिक, डॉ. जोशी के कार्यालय से एक पत्र जारी हुआ है। इसमें जोशी ने लिखा है, ‘‘संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री रामलाल ने उनसे कहा है कि वे कानपुर या कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।’’ ऐसी जानकारी उनके कार्यालय से दी गई है। बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व का जो आदेश होता है, हम लोग उसे सिर-आंखों पर लेते हैं। हमारा काम आदेश का पालन करना है।’’

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: प्रियंका गांधी का बीजेपी पर तंज, कहा- उनके नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त
2 Lok Sabha Election 2019: फारुख अब्दुल्ला का बीजेपी पर हमला, कहा- बालाकोट एयर स्ट्राइक से पहले था राम मंदिर का मुद्दा, अब कोई नाम तक नहीं ले रहा
3 Lok Sabha Elections 2019: नितिन गडकरी ने पिछले साल कमाए सिर्फ 6.4 लाख रुपए, पांच साल में 140 फीसदी बढ़ गई आय
आज का राशिफल
X