ताज़ा खबर
 

Madhya pradesh election: सपा का टिकट लौटा कांग्रेस में आए पर पार्टी ने किसी और को बना दिया प्रत्याशी

बुधनी से टिकट मिलने के आश्वासन पर अर्जुन आर्य सपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए। इसके पहले समाजवादी पार्टी ने उन्हें बुधनी से उम्मीदवार बनाया था। लेकिन अब आखिरी मौके पर बुधनी से कांग्रेस पार्टी ने अरुण यादव को अपना उमीदवार घोषित कर दिया हैं।

अर्जुन आर्या (बांये से प्रथम) फोटो सोर्स- फेसबुक

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बीच प्रत्याशियों के अदला-बदली का दौर शुक्रवार को नामांकन के साथ पूरा हो जाएगा। इस दौरान पिछले दो महीने में कई नेताओं की किस्मत बदली और कई को वादे के बाद भी मुंह की खानी पड़ी. कई ने आखिरी पलों में दूसरी पार्टी में टिकट पाने में सफलता पाई तो किसी के हाथ से बैठे बैठाए सीट चली गई. ऐसा ही हुआ अर्जुन आर्य के साथ। कांग्रेस ने उन्हें बुधनी से टिकट नहीं दिया, वहां शिवराज के खिलाफ पार्टी ने अपने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को मुकाबले में उतार दिया।

अर्जुन आर्य के साथ कैसे बदला गणित?

जानकारी के मुताबिक, अर्जुन आर्य को समाजवादी पार्टी से बुधनी से टिकट मिल गया था, कहा जाता है कि अखिलेश यादव ने स्वंय अर्जुन को वहां से टिकट दिया था. दरअसल, अर्जुन आर्य बुधनी में शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते थे और सपा की ओर से उन्हें टिकट दे दिया गया था। बुधनी में उन्होंने तेजी से प्रचार प्रचार भी शुरू कर दिया था. कुछ महीने की मेहनत के बाद इलाके में वे चर्चा में आने लगे थे। लेकिन मामला उस वक्त पल्टा जब अर्जुन से दूसरी पार्टियां संपर्क करने लगी, कहा जाता है कि बीजेपी ने भी अर्जुन को अपने खेमे में लाने की कोशिश की। पर बात नहीं बनी, इसके बाद कांग्रेस के कुछ बड़े नेताओं ने अर्जुन पर डोरे डाले और मामला फिट बैठ गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मानें तो बुधनी से टिकट मिलने के आश्वासन पर अर्जुन आर्य कांग्रेस में शामिल हो गए. कहा जाता है कि स्वंय दिग्विजय सिंह ने अर्जुन को पार्टी में लाने का काम किया था।

टिकट करने पर अर्जुन आर्य ने क्या कहा?

इस बीच, अर्जुन आर्य ने कहा कि हम कांग्रेस पार्टी और राष्ट्रीय नेतृत्व के फैसले का स्वागत करते हैं। हम सब मिलकर आदरणीय अरुण यादव का स्वागत करते हैं, हम प्रत्याशी को ऐतिहासिक जीत के साथ अरुण यादव को विधानसभा भेजने का काम करेंगे।


गौरतलब है कि शुक्रवार को पार्टी ने जब बुधनी सीट से प्रत्याशी का ऐलान किया तो वहां से अर्जुन आर्य का नाम नहीं था। पार्टी ने अपने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को वहां से टिकट दिया है। अर्जुन आर्य को तो टिकट नहीं मिला, अब देखना है कि उनकी पार्टी में मौजूदगी का कांग्रेस को कितना फायदा होता है, होता है भी या नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Madhya pradesh election: शिवराज के खिलाफ कांग्रेस ने पूर्व अध्यक्ष को उतारा, बुधनी में दिलचस्प हो सकता है मुकाबला
2 Madhya pradesh election: सपा से घोषित प्रत्याशी को बीजेपी ने दिया टिकट, पन्ना से मंत्री का टिकट कटा
3 Madhya Pradesh Opinion Poll 2018: बीजेपी-कांग्रेस में कांटे की टक्‍कर, आसान नहीं शिवराज चौहान की वापसी
आज का राशिफल
X