ताज़ा खबर
 

Elections 2019: मनोहर पर्रिकर की सीट से चुनाव लड़ सकते हैं उनके बड़े बेटे उत्पल, अमेरिका से हैं ग्रेजुएट

पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए भाजपा के दो संभावित उम्मीदवारों में गोवा के दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बड़े बेटे उत्पल पर्रिकर का नाम शामिल है।

Author पणजी | April 25, 2019 12:31 PM
मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल (38) ने अमेरिका से स्रातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने पहले कहा था कि वह भाजपा की ओर से दी जाने वाली हर जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार हैं।

पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए भाजपा के दो संभावित उम्मीदवारों में गोवा के दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बड़े बेटे उत्पल पर्रिकर का नाम शामिल है। पार्टी के एक नेता ने बताया कि गोवा भाजपा अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने संभावित उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा करने के लिए बुधवार को पणजी ब्लॉक समिति समेत विभिन्न पार्टी इकाइयों के साथ वार्ता की। वरिष्ठ भाजपा नेता ने अपना नाम उजागर नहीं किए जाने की शर्त पर कहा, ‘‘दो नामों को छांटा गया है-पहला नाम उत्पल पर्रिकर और दूसरा नाम सिद्धार्थ कुनकोलिनकर है।’’ उन्होंने बताया कि दोनों के नाम अंतिम निर्णय के लिए नयी दिल्ली में पार्टी के संसदीय बोर्ड को भेजे जाएंगे। तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पिछले महीने निधन के बाद पणजी विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराना अनिवार्य हो गया था। इस सीट पर 19 मई को उपचुनाव होगा।

उत्पल (38) ने अमेरिका से स्रातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने पहले कहा था कि वह भाजपा की ओर से दी जाने वाली हर जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार हैं।  कुनकोलिनकर ने पहली बार 2015 उपचुनाव के दौरान पणजी सीट पर जीत हासिल की थी। इसके बाद उन्होंने 2017 विधानसभा चुनाव में भी यह सीट दोबारा जीती लेकिन उन्होंने मनोहर र्पिरकर के लिए विधानसभा में जगह बनाने के लिए इस सीट को खाली कर दिया था। कांग्रेस ने पणजी उपचुनाव के लिए राज्य के पूर्व मंत्री अतानासियो मोनसेराटे को उम्मीदवार बनाया है।

वहीं दूसरी ओर गोवा में कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि राज्य में मंगलवार  (23 अप्रैल) को संपन्न हुए लोकसभा चुनाव एवं तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों के बाद जिस लापरवाह ढंग से चुनाव आयोग ईवीएम को स्ट्रांग ले जा रहा है, उसे देखकर वह ‘‘हैरान’’ है। पार्टी ने कहा कि चुनाव आयोग को ईवीएम की सुरक्षा तथा इसकी समुचित सुरक्षा प्रोटोकॉल के लिये हर जरूरी कदम उठाने चाहिए।  वहीं, इसके जवाब में चुनाव आयोग ने कहा है कि यह ईवीएम एवं अन्य चुनावी सामग्री को लाने-ले जाने में सभी जरूरी एहतियात बरतता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App