ताज़ा खबर
 
title-bar

चमकेंगे दीदी के ‘सितारे’

अपने राजनीतिक करिअर के सबसे कड़े लोकसभा चुनावों का सामना कर रही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने पिछली बार की तरह इस बार भी फिल्मी सितारों के सहारे चुनावी वैतरणी पार करने का फैसला किया है। अबकी तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर पांच फिल्मी सितारे चुनाव मैदान में हैं।

2014 में उन्होंने पांच फिल्मी सितारों को टिकट दिए। वे पांचों जीत गए।

बंगाल में वाममोर्चा सरकार के शासनकाल के दौरान जमे-जमाए राजनेता ही चुनाव मैदान में उतरते थे। लेकिन ममता ने एक नई परंपरा शुरू करते हुए वर्ष 2009 के चुनावों में शताब्दी राय और तापस पाल जैसे उस समय के दो सबसे व्यस्त सितारों को मैदान में उतारा और वे दोनों अपने ग्लैमर और तृणमूल की लहर के कारण आसानी से जीत गए। उसके बाद वर्ष 2014 में उन्होंने पांच फिल्मी सितारों को टिकट दिए। इनमें शताब्दी व पाल भी शामिल थे। वे पांचों जीत गए। अबकी ममता ने पांच सितारों को ही मैदान में उतारा है। फर्क यह है कि पिछली बार जीतीं संध्या राय और तापस पाल की जगह अबकी बांग्ला फिल्मों की दो शीर्ष अभिनेत्रियों मिमी चक्रवर्ती और नुसरत जहां को चुनाव मैदान में उतारा गया है।

खासकर मिमी चक्रवर्ती को कोलकाता की प्रतिष्ठित जादवपुर सीट से मैदान में उतारने का फैसला तो हैरत भरा रहा है। यह वही सीट है जहां वर्ष 1984 के लोकसभा चुनाव में माकपा के वरिष्ठ नेता सोमनाथ चटर्जी को पटखनी देकर ममता बनर्जी राजनीति के राष्ट्रीय परिदृश्य पर उभरी थीं। इसी तरह बांग्लादेश की सीमा से लगी बशीरहाट सीट पर अभिनेत्री नुसरत जहां को उम्मीदवार बनाया गया है। उस इलाके में भाजपा का असर हाल के वर्षों में तेजी से बढ़ा है। ममता ने ग्लैमर के सहारे उसे बेअसर करने की रणनीति बनाई है। इन दोनों के अलावा बांग्ला फिल्मों के हीरो दीपक अधिकारी उर्फ देब, शताब्दी राय और मुनमुन सेन को भी टिकट दिया गया है। इनमें से मुनमुन सेन को बांकुड़ा की बजाय आसनसोल में भाजपा के संभावित उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो के खिलाफ मैदान में उतारा गया है।

बंगाल के पल-पल बदलते राजनीतिक हालात ने इस बार यहां लोकसभा चुनावों को सबसे दिलचस्प बना दिया है। वर्ष 2004 के बाद ममता को कभी लोकसभा चुनावों में इतनी कड़ी चुनौती का सामना नहीं करना पड़ा है। यह तो शीशे की तरह साफ है कि यहां अबकी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है और एक-दूसरे को पटखनी देने के लिए दोनों पार्टियां कोई भी कसर नहीं छोड़ रही हैं। ममता भी मानती हैं कि 2019 के लोकसभा चुनाव एक बड़ी चुनौती हैं और भाजपा उनकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी है।

जादवपुर सीट से तृणमूल उम्मीदवार अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती ने कहा कि, राजनीति उनके लिए नई चीज है। लेकिन वे फिल्मों की अपनी भूमिकाओं की तरह इस नई भूमिका को भी जिम्मेदारी और ईमानदारी से निभाने और लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करेंगी। वहीं,  बशीरहाट से तृणमूल उम्मीदवार अभिनेत्री नुसरत जहां ने कहा, राजनीति में आने की इच्छा तो नहीं थी, लेकिन जब दीदी ने इतनी अहम जिम्मेदारी सौंप ही दी है तो वे मन लगा कर उसे निभाने का प्रयास करेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App