ताज़ा खबर
 

वीर सावरकर को कहा था डरपोक, राहुल गांधी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

वैसे यह पहला मौका नहीं है, जब राहुल के खिलाफ सावरकर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के चलते शिकायत दर्ज की गई हो। पिछले साल भी कांग्रेस अध्यक्ष के एक बयान पर बवाल हो गया था।

राहुल गांधी के खिलाफ बीते साल सावरकर के रिश्तेदार भी मानहानि की शिकायत दे चुके हैं। (फाइल फोटोः पीटीआई)

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। महाराष्ट्र के पुणे में उनके खिलाफ कथित तौर पर भावनाएं भड़काने को लेकर शिकायत दर्ज करा दी गई। आरोप है कि राहुल ने स्वतंत्रता सेनानी रहे विनायक दामोदर सावरकर को डरपोक कहा। शिकायत के हवाले से रिपोर्ट्स में कहा गया कि नई दिल्ली में एक रैली के दौरान राहुल ने सावरकर को डरपोक बताया और उनके लिए गंदी और नीचा दिखाने वाली भाषा का इस्तेमाल कियास, जिससे कई लोगों की भावनाएं आहत हुईं।

राहुल के खिलाफ शिकायत देने वाले विश्वजीत देशपांडे, निर्मल देशपांडे और श्रीपद कुलकर्णी का आरोप है कि सात फरवरी को दिल्ली जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में कांग्रेस अल्पसंख्यक शाखा के एक कार्यक्रम पार्टी अध्यक्ष ने वीर सावरकर के लिए आपत्तिजनक भाषा इस्तेमाल की थी। तीनों ने पत्रकारों से कहा, “राहुल के बयान से हमारी भावनाओं को ठेस पहुंची है।”

दरअसल, राहुल ने सावरकर को लेकर कहा था, “चाहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) हो या फिर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)। मोदी (पीएम) हों या सावरकर, सब डरपोक हैं।” कांग्रेस अध्यक्ष ने उस कार्यक्रम में राफेल जेट विमान डील को लेकर पीएम पर सवालिया निशान लगाए थे।

बकौल राहुल, “पीएम इतना डर चुके हैं कि वह बहस में पांच मिनट भी नहीं टिक सकेंगे। हम साथ खड़े होंगे, तो वह भाग खड़े होंगे। कांग्रेस अब आरएसएस और बीजेपी को भगा रही है। हम उन्हें राफेल, कृषि संकट और रोजगार के मुद्दे पर भगा देंगे।”

वैसे यह पहला मौका नहीं है, जब राहुल के खिलाफ सावरकर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के चलते शिकायत दर्ज की गई हो। पिछले साल नवंबर में उन्होंने कहा था, “वीडी सावरकर को वीर सावरकर भी कहा जाता है, मगर उन्होंने तो जेल से रिहा होने के लिए अंग्रेजों से माफी मांग ली थी।” सावरकर के रिश्तेदार ने तब इस आरोप को खारिज किया था और कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ मानहानि की शिकायत दर्ज कराई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App