ताज़ा खबर
 

सिंधिया के रोड शो में बिना अनुमति लगे मंच, मामला दर्ज, आधे रास्ते से वापस लौटे ज्योरितादित्य

ज्योतिरादित्य के रोड शो के चलते बिना अनुमति स्वागत मंच लगाने पर कांग्रेसियों पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

Author Updated: November 23, 2018 10:47 AM
इंदौर में रोड शो करते ज्योतिरादित्य सिंधिया, फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

मध्यप्रदेश के इंदौर में चुनाव प्रचार अभियान समीति के प्रदेश अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया का रोड शो कांग्रेसियों को मंहगा पड़ा। दरअसल ज्योतिरादित्य के रोड शो के चलते बिना अनुमति स्वागत मंच लगाने पर कांग्रेसियों पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

क्या है पूरा मामला
दरअसल बुधवार रात इंदौर 5 विधानसभा क्षेत्र में आस्था टॉकिज से कांग्रेस चुनाव समिति के प्रभारी ज्योतिरादित्य का रोड शो निकला था। इस दौरान गोमा की पेल, पंचक की फेल और शैल्बी अस्पताल के सामने स्वागत मंच लगाए गए थे। लेकिन चुनाव आयोग के निर्देशों के मुताबिक स्वागत मंच लगाने के लिए परमिशन की जरूरत होती है। एसडीएम राकेश शर्मा ने जांच की तो पता चला कि 5 ऐसे मंच थे जिनकी अनुमित नहीं ली गई थी।

रोड शो आधा छोड़ निकले सिंधिया
बता दें वक्त की कमी के चलते सिंधिया अपना रोड शो भी पूरा नहीं कर पाए और आधे घंटे में ही रोड शो छोड़कर चले गए। जिसकी वजह उनकी फ्लाइट का समय बताया जा रहा है। सिंधिया के आधे रास्ते से लौटने के बाद कांग्रेस के नेताओं ने रोड शो पूरा किया।

केस हुआ दर्ज
एसडीएम ने तुकोगंज पुलिस को इस मामले की शिकायत की। मामले में धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया है। हालांकि जिन 5 मंचो को लेकर शिकायत की गई है उन मंचो पर सिंधिया गए ही नहीं थे।

जांच में जुटी पुलिस
बता दें वीडियोग्राफी की मदद से पुलिस से पता लगाने की कोशिश कर रही है कि ये मंच किसने लगाए थे। गौरतलब है कि बिना अनुमित के स्वागत मंच लगाने के मामले में ये पहला केस दर्ज किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Elections Opinion: आखिर चुनाव हारते क्यों नहीं हैं शिवराज?
2 देश के आखिरी डकैत ने कहा- बीजेपी को वोट देता था, पर इस शासन में सबसे ज्यादा करप्शन बढ़ा
3 अब उम्मीदवारों को टक्कर देगा NOTA, जीता तो फिर लिया जाएगा ये फैसला
जस्‍ट नाउ
X