ताज़ा खबर
 

Loksabha Elections 2019: स्टिंग में EC पर्यवेक्षक का कबूलनामा, ’48 घंटे लगे वजह ढूंढने में, कैसे खारिज करें तेज बहादुर यादव का पर्चा’

इससे पहले यादव के वकील ने भी दावा किया था- पर्यवेक्षक ने बनारस के जिलाधिकारी से उनके सामने कहा था कि बर्खास्त बीएसएफ जवान का पर्चा खारिज किया जाना है।

Loksabha Elections 2019: पीएम के खिलाफ काशी में ताल ठोंकने वाले बीएसएफ के बर्खास्त जवान को गठबंधन ने टिकट दिया था। (फाइल फोटो)

Loksabha Elections 2019: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आम चुनाव में वाराणसी सीट से ताल ठोंकने वाले सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव का पर्चा साजिशन खारिज किया गया था। यह खुलासा हाल ही में किए गए एक स्टिंग ऑपरेशन में हुआ है। छिपे हुए कैमरे पर चुनाव आयोग (ईसी) के पर्यवेक्षक ने साफ तौर पर कबूला कि लगभग 48 घंटों तक वह यादव का पर्चा खारिज करने के लिए वजह ढूंढते रह गए थे।

हालांकि, इससे पहले यादव के वकील ने भी दावा किया था कि पर्यवेक्षक ने बनारस के जिलाधिकारी से उनके सामने कहा था कि बर्खास्त बीएसएफ जवान का पर्चा खारिज किया जाना है। बता दें कि पीएम के खिलाफ चुनाव में खड़े होने वाले यादव का नामांकन खारिज होने के बाद उन्होंने आरोप लगाया है कि उन्हें जानबूझकर चुनाव लड़ने नहीं दिया जा रहा है।

उनके वकील राजेश गुप्ता ने दावा किया था, “वाराणसी चुनाव क्षेत्र के जो रिटर्निंग ऑफिसर (सुरेंद्र सिंह-डीएम) हैं, उन्होंने बताया था कि पेपर में कोई गलती नहीं है, तभी आंध्र के बड़े अधिकारी आए और डीएम से बोले कि तेज बहादुर की फाइल कहां है…डीएम से उन्होंने कहा कि इनका तो रिजेक्ट करना है।”

‘एबीपी न्यूज’ ने इस दावे की पड़ताल के लिए ईसी के पर्यवेक्षक के.प्रवीण कुमार किया, जिसमें उन्होंने साफ तौर माना कि उन्हें तेज बहादुर यादव का पर्चा खारिज करने की वजह ढूंढने में लगभग 48 घंटे का समय लगा था। देखें, स्टिंग में क्या बोले वहः

छिपे हुए कैमरे के सामने रिपोर्टर से कुमार ने कहा, “हम इसमें 48 घंटे…हम…पहले नॉमिनेशन और दूसरे नॉमिनेशन के बीच में गैप में बहुत हमने सब नियम देख लिए थे। इतना निगलेक्ट से कुछ भी नहीं…मैंने कलेक्टर और रिटर्निंग ऑफिसर से…फोन पर वकील से…ईसी से सबकी जानकारी ले ली। सब यही 33/3 तुम लोग कौन फैसला लेने को बोलता। जब धारा 33/3 है, तब आप क्या उम्मीद करें। आप नहीं कर सकते।”

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App