ताज़ा खबर
 

Loksabha Elections 2019: बीजेपी का आरोप- तृणमूल कांग्रेस की दलाली कर रहा चुनाव आयोग

Loksabha Elections 2019: बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष की रैली और हेलीकॉप्टर लैंडिंग को मंजूरी न दिए जाने के बाद पार्टी नेताओं ने कोलकाता में चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

Loksabha Elections 2019, Sunil Deodhar, BJP, Kolkata, Allegation, Election Commission, 'Dalaali', Dalaal, West Bengal, Mamata Banerjee, TMC, BJP, Amit Shah, Rally, State News, Elections News, Hindi Newsअमित शाह की रैली को अनुमति न देने को लेकर कोलकाता में प.बंगाल चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर सुनील देवधर समेत कई बीजेपी नेताओं ने प्रदर्शन किया। (फाइल फोटो)

Loksabha Elections 2019: पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की रैली और हेलीकॉप्टर की लैंडिंग को मंजूरी न दिए जाने पर बीजेपी ने चुनाव आयोग (ईसी) को घेरा है। सोमवार को कोलकाता स्थित ईसी के दफ्तर के बाहर पार्टी नेताओं ने प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि ईसी, सीएम ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिए दलाली कर रहा है।

बीजेपी प्रवक्ता सुनील देवधर ने उस दौरान कहा, “यह कैसा लोकतंत्र है? यहां पर कोई न्याय व्यवस्था नहीं है, संविधान का राज नहीं है। बस ममता जी का गुंडा राज चल रहा है। दुर्भाग्य से यहां की पुलिस और प्रशासन, दोनों टीएमसी के दलाल बन कर बैठे हैं। हमारे मन में इसी को लेकर आक्रोश है कि वह डीएम रत्नाकर राव दलाल बनकर वहां बैठेगा, तब निष्पक्ष चुनाव कैसे होंगे?”

वह आगे बोले, “हम यहां निष्पक्ष चुनाव के लिए बैठे हैं। योगी आदित्यनाथ जी की सभा के लिए अनुमति मिली थी, पर उन्होंने रद्द कर दी। ये ऐसा कर रहे हैं कि सामने वाला कोई सभा ही न कर सके। बंगाल में आखिर हो क्या रहा है? यहां कानून-व्यवस्था पूरी तरह से फेल है। यहां सीएम ममता पीएम मोदी को पीएम मानने से इन्कार कर देती हैं। ऐसे राज्य से क्या उम्मीदें कर सकते हैं…।”

बकौल देवधर, “टीएमसी चुनाव हारने वाली है, यह पक्का है। आज की घटना के बाद मैं दावे से कह सकता हूं कि अनुपम हाजरा यहां जीतेंगे। बीजेपी 30 से अधिक सीटें जीतेगी।” बता दें कि बंगाल में कुल 42 लोकसभा सीटें हैं।

बीजेपी नेता ने इसके अलावा तत्काल डीएम को हटाने की मांग की। कहा, “दक्षिणी 24 परगना के डीएम रत्नाकर राव को अगर नहीं हटाया गया, तो निष्पक्ष चुनाव नहीं होंगे। हम उसे हटवाना चाहते हैं। शाम साढ़े छह बजे हम बैठे। ईसी भेदभाव कर रहा है। ये ईसी टीएमसी की दलाली कर रहा है और वह उसी के हाथों खेल रहा है।”

Next Stories
1 पीली साड़ी वाली महिला बोलीं- ‘मैं तो पारंपरिक ड्रेस पहनकर गई थी, स्टाइलिश लोगों ने समझ लिया’, BIGG BOSS में जाने पर कही ये बात
2 Loksabha Elections 2019: RSS पर तमिलनाडु कांग्रेस चीफ का वार- इस्लामिक स्टेट जैसा है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
3 Lok Sabha Election 2019: टीआरएस को उम्‍मीद तीसरे मोर्चे में आ सकते हैं एनडीए के कई साथी
यह पढ़ा क्या?
X