ताज़ा खबर
 
title-bar

Loksabha Elections 2019: ‘1971 के एजेंडे पर 2019 का चुनाव लड़ रहे हैं राहुल गांधी’, FB पोस्ट के जरिए अरुण जेटली का तंज

Loksabha Elections 2019: वित्त मंत्री ने आगे दावा किया कि इस बार के चुनाव में बीजेपी को 2014 के मुकाबले अधिक सीटें मिलेंगी।

वित्त मंत्री अरुण जेटली। (एक्सप्रेस फोटोः प्रेमनाथ पांडे)

Loksabha Elections 2019: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने चुनावी माहौल के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा है। शुक्रवार (26 अप्रैल, 2019) को फेसबुक पोस्ट के जरिए उन्होंने कहा कि राहुल 1971 के एजेंटे पर 2019 का चुनाव लड़ रहे हैं। राहुल ने जिस तरह से राफेल डील और किसानों की कर्जमाफी पर जो फर्जी चीजें गढ़ीं, वह एक ‘हारने वाले व्यक्ति के उतावलेपन’ को दर्शाता है।

‘हैज कांग्रेस थ्रोन इट्स हैंड्स अप?’ शीर्षक वाले पोस्ट में उन्होंने लिखा, “उन्होंने (राहुल) एक हारने वाले व्यक्ति जैसा उतावलापन दिखा दिया। बीते एक साल में उन्होंने राफेल और कर्ज माफी के मसले पर कई फर्जी चीजों को गढ़ते हुए मुद्दा बनाया। पर वे फर्जी मुद्दे गायब हो गए।”

बकौल जेटली, “कांग्रेस 2019 का चुनाव साल 1971 के एजेंडे पर लड़ रही है। यह दर्शाता है कि वह (पार्टी) समय के साथ नहीं है। दीवार पर लिखी चीजें बिल्कुल स्पष्ट हैं।” जेटली दिल्ली में आप से कांग्रेस के गठबंधन वाले प्रस्ताव पर भी बोले। उन्होंने कहा कि गांधी ने इस मसले पर भी अपना उतावलापन दिखाया। राहुल ने दिल्ली में आप को चार सीटें देने के लिए कहा, पर यह नहीं सोचा कि उनके सामने अरविंद केजरीवाल हैं, जो कि कांग्रेस के साथ खेल खेल रहे थे।

वित्त मंत्री ने आगे दावा किया कि इस बार के चुनाव में बीजेपी को 2014 के मुकाबले अधिक सीटें मिलेंगी। उनके एफबी पोस्ट के अनुसार, कांग्रेस क्षेत्रीय पार्टियों या फिर बीजेपी का सामना करने की स्थिति में नहीं है। जमीनी हकीकत ऐसे में बताती है कि हमें 2014 से बड़ा जनादेश मिलेगा। 65 से 70 फीसदी लोग मौजूदा पीएम को आगे चाहते हैं।

जेटली ने बताया, “न्यू इंडिया सकारात्मक भारत है। यह गांधी, केजरीवाल, ममता बनर्जी और टीडीपी की नकारत्मकता को किसी भी हालत में कबूलेगा नहीं। आम चुनाव में तीन चरण के मतदान के बाद बीजेपी का ‘उभार’ हुआ है।” बता दें कि आम चुनाव के तहत आखिरी और सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा, जबकि 23 मई को नतीजे आएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App