ताज़ा खबर
 

रिपोर्ट: अशोक गहलोत से इतने नाराज राहुल गांधी कि मिलने से कर दिया इनकार!

Chunav Result 2019, Lok Sabha Election Results 2019: लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस को राजस्थान में एक भी सीट नहीं मिल पाई। मध्यप्रदेश में एक और छत्तीसगढ़ में सिर्फ दो सीटें मिली हैं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

Election Results 2019: लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में अपने इस्तीफे की पेशकश करते हुए राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में करारी हार पर विशेष रूप से नाराजगी जताई। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में राहुल गांधी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित कुछ बड़े क्षेत्रीय नेताओं का उल्लेख करते हुए कि इन नेताओं ने बेटों-रिश्तेदारों को टिकट दिलाने के लिए जिद की और उन्हीं को चुनाव जिताने में लगे रहे और दूसरे स्थानों पर ध्यान नहीं दिया। सीडब्ल्यूसी की बैठक में मौजूद रहे दो नेताओं ने इसकी पुष्टि की है। यही वजह रही कि जब अशोक गहलोत ने राहुल गांधी से मिलने के लिए समय मांगा तो कांग्रेस अध्यक्ष ने इनकार कर दिया।

टाईम्स नाऊ ने सूत्रों के हवाले बताया है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अशोक गहलोत से इतने नाराज थे कि उनसे मिलने से इनकार कर दिया। अशोक गहलोत ने राहुल गांधी से मुलाकात के लिए समय मांगा था, लेकिन उन्हें समय नहीं मिला। वजह ये बताई जा रही है कि अशोक गहलोत ने अपने बेटे वैभव गहलोत के लिए पार्टी की अनदेखी कर चुनाव प्रचार किया। शिकायत यह भी मिली कि अशोक गहलोत ने अपना पूरा ध्यान जोधपुर सीट से अपने बेटे वैभव को जीताने के लिए केंद्रित किया। वहीं, उन्होंने राज्य के अन्य सीटों के लिए चुनाव प्रचार में अनदेखी की। हालांकि, इसके बावजूद वैभव गहलोत भाजपा उम्मीदवार गजेंद्र सिंह शेखावत से करीब 2 लाख 74 हजार वोट से हार गए।

वहीं सीडब्लूसी की बैठक में मौजूद रहे एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ”राहुल इस बात से ज्यादा नाराज थे कि कांग्रेस शासित राज्यों में पार्टी की इतनी बुरी हार हुई है। उनका कहना था कि हम इससे कहीं बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।” इस बैठक में मौजूद पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा, ”राहुल गांधी ने गहलोत और कमलनाथ, चिदंबरम सहित कुछ बड़े क्षेत्रीय नेताओं का नाम लिया और कहा कि इन नेताओं ने अपने बेटे और रिश्तेदारों को टिकट दिलाने के लिए जिद की और फिर इन्हें ही जिताने में लगे रहे। इस चक्कर में दूसरे स्थानों पर इन नेताओं ने पूरा ध्यान नहीं दिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने जिन नेताओं का नाम लिया उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया और वे चुप रहे।”

गौरतलब है कि इस चुनाव में कांग्रेस को राजस्थान में एक भी सीट नहीं मिल पाई है तो मध्यप्रदेश में एक और छत्तीसगढ़ में सिर्फ दो सीटें मिली हैं। गहलोत, कमलनाथ और चिदंबरम के पुत्र इस बार चुनावी मैदान में थे। गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत जोधपुर से चुनाव हार गए, हालांकि कमलनाथ के पुत्र नकुलनाथ मध्य प्रदेश की छिंदवाड़ा और चिदंबरम के पुत्र कार्ति तमिलनाडु की शिवगंगा सीट से चुनाव जीत गए। (भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X