ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: नवजोत सिंह सिद्धू के वोकल कॉर्ड से रिसा खून, लेना पड़ रहा स्‍टेरॉयड और इंजेक्‍शन

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): सिद्धू एंटी-इंफ्लामेटरी इंजेक्शन तथा स्टेरॉयड के साथ दो दिनों आराम को चुना क्योंकि बाम कोटिंग की वजह से वे चार दिनों तक कुछ भी बोल नहीं पाते।

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू। (Express Photo)

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का वोकल कॉर्ड से खून रिस गया है और उन्हें स्टेरॉयड तथा इंजेक्शन लेना पड़ रहा है। उनके कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि, लोकसभा चुनाव के दौरान 28 दिनों में 80 रैलियों को संबोधित कर नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने वोकल कॉर्ड को खराब कर लिया है। लगातार बोलने की वजह से ऐसा हुआ है। कई बार उनके वोकल कॉर्ड से खून भी रिसा है। उन्हें इसकी रिकवरी के लिए स्टेरॉयड और इंजेक्शन दिया जा रहा है।

आधिकारिक बयान में कहा गया है, “सिद्धू ने चंडीगढ़ में रविवार की सुबह चिकित्सकों से परामर्श किया। चिकित्सकों ने दो विकल्पों की सलाह दी। पहला ये कि उनके क्षतिग्रस्त गले के ऊपर एक बाम कोटिंग की जाए, जिसके बाद उन्हें चार दिनों तक बोलना नहीं होगा। दूसरा विकल्प ये दिया कि एंटी-इंफ्लामेटरी इंजेक्शन तथा स्टेरॉयड के साथ 48 घंटे का आराम दिया जाए।”

पंजाब सरकार में मंत्री सिद्धू के कार्यालय ने कहा कि सिद्धू ने सातवें और लोकसभा के अंतिम चरण के लिए के लिए 19 मई को होने वाले मतदान को लेकर अंतिम चार दिनों में चुनाव प्रचार करने पर जोर दिया। इसे देखते हुए उन्होंने एंटी-इंफ्लामेटरी इंजेक्शन तथा स्टेरॉयड के साथ दो दिनों आराम को चुना क्योंकि बाम कोटिंग की वजह से वे चार दिनों तक कुछ भी बोल नहीं पाते। अभी सिद्धू दवा ले रहे हैं और चुनाव अभियान में जल्द से जल्द लौटने की प्रक्रिया में हैं।

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस पार्टी के स्टार प्रचार हैं। बिहार के पटना साहिब में 14 मई तथा 15 मई को हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ तथा बिलासपुर के पोंटा साहिब में उनकी जनसभा तय है। वहीं, 16 तथा 17 मई को वे मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार करेंगे।

पिछले साल दिसंबर महीने में भी कांग्रेस नेता को पांच दिनों तक ‘बेड रेस्ट’ की सलाह दी गई थी क्योंकि 17 दिन चुनावी रैली करने की वजह से उनका वोकल कॉर्ड खराब हो गया था। इन 17 दिनों में उन्होंने 70 से ज्यादा रैलियों को संबोधित किया था। जिसके बाद उनकी आवाज जाने का खतरा बढ़ गया था। यह रैलियां उन्होंने पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव को लेकर की थी।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 Loksabha Elections 2019: नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेंगे बाहुबली अतीक अहमद, मैदान से हटने का किया ऐलान
2 Delhi: वोटिंग में पहली बार मिली ट्रांसजेंडर्स को पहचान, सोशल मीडिया पर पोस्ट की वोटर सेल्फी, ऐसे किया रिएक्ट
3 संजय गांधी के जिस चीनी मिल के लिए दी थी 10 एकड़ जमीन, आज उसमें हैं मशीन ऑपरेटर, फंसा है 22 महीने का वेतन
यह पढ़ा क्या?
X