ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election Result 2019: मुलायम को हो गया था सपा के हश्र का अंदाजा! अखिलेश को पहले ही दे दी थी वॉर्निंग

Poll Result 2019: मुलायम सिंह यादव ने पहले ही इशारा दे दिया था कि मायावती की पार्टी के साथ गठबंधन सपा के हक में ठीक नहीं है। बावजूद इसके अखिलेश आगे बढ़े और उनकी पार्टी का प्रदर्शन बीएसपी से काफी ज्यादा खराब साबित हुई।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव। (फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

लोकसभा चुनाव नतीजों (Poll Result 2019) के पहले किसी को अंदाजा नहीं था कि जातीय अंकगणित में ताकतवर सपा-बसपा के गठजोड़ का हश्र बेहद ख़राब होने वाला है। ऐसे में समाजवादी पार्टी के संस्थापक और अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव की वॉर्निंग सच साबित हो रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुलायम सिंह यादव को अखिलेश द्वारा मायावती के साथ गठबंधन पर ऐतराज था। सीट बंटवारे पर उनकी खास आपत्ति थी। जिस तरह से सीटों का बंटवारा हुआ, उस देखते हुए मुलायम को सपा के हश्र का अंदाजा हो चुका था।

Election Results 2019 LIVE Updates: यहां देखें नतीजे

उत्तर प्रदेश की कुल 80 लोकसभा सीटों में एक तरफ जहां गठबंधन द्वारा क्लीन स्वीप की बात कही जा रही थी। वहीं, नतीजों के बाद बाजेपी यहां पर 62 सीट हासिल करने में कामयाब रही। जबकि, सपा-बसपा को 15 सीटें मिलीं। गौर करने वाली बात यह है कि गठबंधन में सबसे ज्यादा हानि समाजवादी पार्टी को उटानी पड़ी। अखिलेश यादव की पार्टी को महज 5 सीटों से संतोष करना पड़ा है, जबकि मायावती की बीएसपी ने 10 सीटें हासिल की। चुनावी विश्लेषक मानते हैं कि मायावती को इस चुनाव में अखिलेश के मुकाबले ज्यादा लाभ हुआ। वैसे भी बीएसपी को 2014 में एक भी सीट नहीं मिल पाई थी।

Loksabha Election 2019 Results live updates: See constituency wise winners list 

अखिलेश को गठबंधन का लाभ इसलिए भी नहीं मिल पाया, क्योंकि उनके ही परिवार के चुनाव लड़ रहे पांच सदस्यों में से तीन को हार का मुंह देखना पड़ा। जबकि, सिर्फ अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ही जीत हासिल करने में कामयाब हो पाए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को बीजेपी उम्मीदवार सुब्रत पाठक से हार का सामना करना पड़ा। वहीं, बदायूं से अखिलेश के भाई धर्मेंद्र यादव को भी बीजेपी उम्मीदवार संघमित्रा मौर्य के हाथों हार नसीब हुई। रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय भी फिरोजाबाद से अपना सीट नहीं बचा पाए।

Follow live coverage on election result 2019. Check your constituency live result here.

यादव परिवार के एक और अहम सदस्य रामगोपाल यादव, जिन्होंने बगावत करके अलग पार्टी ‘प्रगतिशील समाजवादी पार्टी- लोहिया’ (पीएसपी-एल) बनाई थी, वह भी चुनाव हार गए। चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में 37:38 का फॉर्मूला तय हुआ। तब भी पोलिटिकल पंडितों ने बताया था कि अधिकांश कठिन सीटें अखिलेश के खाते में आईं। उस दौरान मुलायम सिंह यादव ने हिंट दिया था कि गठबंधन समाजवादी पार्टी के लिए शुभ संकेत नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X